• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Dumranv
  • The Bridegroom, An Engineer Posted In The Railways, Reached The In laws' House By Helicopter; The Procession Reached Ramshahar Village Of Bhojpur District

दहेजमुक्त शादी:रेलवे में तैनात इंजीनियर दूल्हा हेलीकाॅप्टर से पहुंचा ससुराल; भोजपुर जिले के रामशहर गांव पहुंची बरात

डुमरांव2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
परसियां में बरात रवाना होने के पूर्व हेलीकॉप्टर के पास दुल्हा के साथ खड़े परजिन। - Dainik Bhaskar
परसियां में बरात रवाना होने के पूर्व हेलीकॉप्टर के पास दुल्हा के साथ खड़े परजिन।

दियरांचल में पहली बार किसी दूल्हे की बारात सड़क मार्ग के बजाय हवाई मार्ग से निकली है। दूल्हा बन हेलीकॉप्टर पर उड़ने वाला खुद आंध्र प्रदेश रेलवे में इंजीनियर के पद पर तैनात है। खास यह कि वह सामाजिक मान्यताओं को दरकिनार कर गरीब परिवार की लड़की से बिना किसी दान दहेज के शादी कर रहा है। गांव में पहली बार हेलीकॉप्टर को देखने के लिए हजारों की भीड़ उमड़ गई थी। वाकया ब्रह्मपुर थाना क्षेत्र के परसिया गांव का है।

जानकारी के अनुसार परसिया के सुरेंद्र नाथ तिवारी व उमरावती देवी के पुत्र राजू तिवारी जो आंध्र प्रदेश रेलवे में इंजीनियर है। बुधवार को उनकी शादी भोजपुर जिला के बड़हरा थाना क्षेत्र के रामशहर गांव के स्वर्गीय वीरेंद्र कुमार चौबे व इंदु देवी की पुत्री कृपा कुमारी से हुई। इस शादी के लिए दूल्हा बने राजू ने खास तैयारी की पता हेलीकॉप्टर से ससुराल जाने का निर्णय लिया।

आठ लाख में तय हुआ किराया
राजू के परिजनों ने बताया कि परासिया से रामशहर जाने के लिए हेलीकॉप्टर वाले ने आठ लाख रुपये किराया लिया है। इस पैसे को राजू खुद दिया है। राजू की माने तो दहेज की कुप्रथा में गरीब परिवार की लड़कियों की शादी में अड़चन आती है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के दहेज मुक्त शादी के आह्वान के बाद वॉइस में शामिल हुआ तथा दहेज मुक्त शादी कर समाज को क्या संदेश देना चाहता है कि दहेज के अभाव में लड़कियों की शादी बाधित न हो।

कहते हैं अधिकारी
डीएम के ओएसडी सह डीसीएलआर देवेन्द्र प्रताप शाही ने कहा कि दुल्हा के परिजन के द्वारा हेलीकॉप्टर लैड़िंग के अनुमति के लिए आवेदन दिया गया था। जिसके बाद स्थानीय अधिकारियों से जांच के बाद सारी गाइड़ लाइन पालन करते हुए अनुमति दी गई है।

दियरांचल में पहली बार हेलीकॉप्टर से ससुराल गया दूल्हा
राजू तिवारी की शादी इतिहास बन गया है। यह पहला मौका है जब भी दियरांचल का कोई दूल्हा हेलीकॉप्टर से शादी करने ससुराल पहुंचा। इसके पहले चुनाव के पूर्व विधायक ददन पहलवान के पुत्र भी हेलीकॉप्टर से अपने ससुराल गए थे।

डीएम की स्वीकृति के बाद साकार हुआ सपना
राजू ने पहली बार ससुराल जाने के लिए जब हवाई मार्ग को चुना तो उसके सामने सबसे बड़ी समस्या प्रशासनिक स्वीकृति की थी। लेकिन बक्सर डीएम अमन समीर ने सुकृति का मोहर लगा उसके सपनों को पूरा होने का मौका दिया।

खबरें और भी हैं...