भ्रष्टाचार पर नकेल:पंचायत के विकास के लिए आवंटित रुपये का विवरण किया गया ऑनलाइन

डुमरांव9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पंचायत में संचालित योजना नाली गली। - Dainik Bhaskar
पंचायत में संचालित योजना नाली गली।

जनप्रतिनिधियों ने पंचायत का कितना विकास किया है, इसकी जानकारी ग्राम स्वराज एप से लोगों को मिलेगी। बता दी कि ग्राम पंचायत में मतदान के जरिए पंचायत प्रतिनिधियों को चुनने का समय आ चुका है। मौजूदा जनप्रतिनिधियों के कामकाज का आकलन भी ब्लॉक कर सकते हैं। इसके लिए सरकार ने ग्राम स्वराज एप उपलब्ध कराया है।

इसके जरिए लोग जान सकेंगे कि मौजूदा पद जनप्रतिनिधि ने कितना कुछ काम अपने पंचायत के विकास के लिए किया है। बता दें कि प्रत्येक पंचायत में विकास के लिए पिछले 5 सालों में करीब 3 करोड़ से अधिक की राशि प्रति पंचायत खर्च की गई है । विकास कार्य और उनके लिए आवंटित किए गए राशि का पूरा विवरण ई ग्राम स्वराज एप पर ऑनलाइन कर दिया गया है।

जिससे लोग अपने अपने गांव पंचायत के विकास की पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। पंचायती राज में अब ग्राम पंचायत की सभी योजनाओं के खर्च का भुगतान ऑनलाइन होगा। पंचायतों में चल रही कल्याणकारी योजना को भ्रष्टाचार मुक्त करने के उद्देश्य से और योजनाओं की राशि का सही इस्तेमाल करने के लिए अब ग्राम पंचायत में चल रही योजनाओं के खर्च की सभी राशि का भुगतान ऑनलाइन माध्यम से किया जाएगा।

योजनाओं में पारदर्शिता के लिए लगाया गया है

नई व्यवस्था के तहत अब योजनाओं की राशि के भुगतान के लिए मुखिया और अन्य पंचायत प्रतिनिधि क्षेत्र नहीं काट सकेंगे पंचायत के खाते में राशि सीधे संबंधित व्यक्ति के अलावा एजेंसी के खाते में चली जाएगी। इस पैसे का हिसाब भारत सरकार के पोर्टल ई ग्राम स्वराज पर दिखेगा किस योजना में किस दिन कितनी राशि दी गई ।

इसका पूरा विवरण पोर्टल पर मिठाई देगा ग्राम पंचायत में 15वें वित्त आयोग की राशि से संचालित होने वाली सभी योजनाओं में खर्च की राशि का ऑनलाइन भुगतान अनिवार्य कर दिया गया है यह व्यवस्था जिला परिषद पंचायत समिति और ग्राम पंचायत तीनों में लागू होगी।

सरकार की योजनाओं की मिलेगी सभी जानकारी

ग्राम पंचायत में संचालित योजनाओं की जानकारी कंप्यूटर पर एक क्लिक से प्राप्त की जा सकती है बता दें कि ग्राम पंचायत में संचालित योजनाओं के एक एक पैसे का हिसाब भारत सरकार के पोटली ग्राम स्वराज पर दिखेगा इसमें योजनाओं की मॉनिटरिंग करने में और शादी होगा इसमें में भी तेजी आएगी बता दें कि 15वें वित्त आयोग की राशि से सामुदायिक भवन का निर्माण का जीर्णोद्धार नल जल पार्क का निर्माण स्वच्छता शौचालय सहित कई योजनाएं संचालित की जा रही है।

भ्रष्टाचार पर लगेगा अंकुश होगा विकास

पंचायत में चल रही योजनाओं की राशि का भुगतान ऑनलाइन करने का मुख्य उद्देश्य भ्रष्टाचार पर लगाम लगाना है बता दें कि पंचायतों में सरकार के माध्यम से कई जनकल्याणकारी योजनाएं संचालित की जा रही है ऐसे प्रायः देखने को मिला है कि योजनाओं का क्रिया वन में प्राक्कलन के अनुरूप नहीं किया जा रहा है जनप्रतिनिधियों और अफसरों की मिलीभगत से योजनाओं की राशि का बंदरबांट भी होता है ऑनलाइन माध्यम से भुगतान होने पर इस पर रोक लगेगी कि ग्राम स्वराज पोर्टल पर लोगों को योजनाओं के क्रियान्वयन की भी जानकारी मिलेगी।

सभी योजनाओं का भुगतान अब होगा ऑनलाइन

पंचायत में चल रही सभी योजनाओं के रुपए का भुगतान पब्लिक फंड मैनेजमेंट सिस्टम सॉफ्टवेयर के माध्यम से ऑनलाइन किया जाएगा जिसमें पदाधिकारी और जनप्रतिनिधियों का डिजिटल हस्ताक्षर रजिस्टर्ड होगा सभी पंचायतों का खाता चालू किया जा रहा है ।

पंचायत प्रतिनिधि और कर्मी गेट डिजिटल हस्ताक्षर से राशि जारी होगी इस कार्य के लिए पंचायत में कार्यरत कार्यपालक सहायक तकनीकी मदद करेंगे जनप्रतिनिधियों का एक पासवर्ड भी होगा जिसे डालने के बाद ही राशि का भुगतान हो सकता है जिला परिषद से लेकर पंचायत स्तर तक या व्यवस्था की जा रही है हालांकि इस व्यवस्था के लागू होने से कई जनप्रतिनिधियों के खुश नहीं दिख रहे हैं।

खबरें और भी हैं...