पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

लाेगों में रोष:गुलामी के दिनों की याद दिला रहा है टुड़ीगंज रेलवे स्टेशन

डुमरांव15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • अंग्रेज अफसर के नाम पर है स्टेशन का नामकरण , नाम बदलने की लगाई जा रही है गुहार

आजादी मिलने के सात दशक बाद भी अंग्रेजों की छाप मौजूद है। कई ऐसी चीजे व जगह है जो आज भी अंग्रेजों की याद दिलाती है। इसी कड़ी मे टुड़ीगंज रेलवे स्टेशन का नाम भी आता है। हावड़ा-दिल्ली मार्ग पर स्थित इस छोटे से रेलवे स्टेशन का निमार्ण सन 1860-62 में ट्विनिंग साहब नामक एक अंग्रेज अफसर ने कराया था। तब वह कृष्णाब्रम्ह में रह क्षेत्रिय किसानों से जबर्दस्ती नील की खेती करवाता था।

खुद के आने-जाने तथा नील को इस क्षेत्र से हावड़ा तक ढुलाई के लिए उसने इस स्टेशन की स्थापना कराई थी। तब उसी के नाम पर स्टेशन का नाम टुड़ीगंज पड़ा। अंग्रेजी में आज भी ट्वीनिंगगंज ही लिखा जाता है। 1947 के बाद अंग्रेज यहां से चले गए उसके बाद कई जगहों तथा ऐतिहासिक चीजों के नामकरण बदले लेकिन ताज्जुब की बात है कि आज भी टुड़ीगंज रेलवे स्टेशन का नाम एक अंग्रेज के नाम ही रह गया है।

जानकारों की मानें तो सन् 1857 के सिपाही विद्रोह से 1942 के भारत छोड़ो आंदोलन तक इस क्षेत्र कोई सपूतों ने देश आजाद कराने के लिए अपना सर्वस्व न्योछावर कर दिया था। यही नही बल्कि आजाद हिन्द फौज के संस्थापक नेताजी सुभाष चंद्र बोस के बॉडीगार्ड के रुप में दियामान के मोहन गिरी राष्ट्रीय स्तर पर ख्याति अर्जित कर चुके है।

लेकिन नजदीकी रेलवे स्टेशन का नाम किसी अंग्रेज के नाम पर होना स्टेशन के खातिर उनके त्याग और बलिदान पर बट्टा लगने जैसा है। टुड़ीगंज जानकारों की मानें तो भारत छाेड़ाे आंदोलन में क्षेत्र के सैकड़ों लोग जेल की हवा खा चुके है।उन्होंने कही कि केन्द्र सरकार को स्टेशन का नाम बदलकर किसी स्वतंत्रता सेनानी के नाम पर करना चाहिए।

वहीं इतिहास से लगाव वाले स्थानीय युवक रविकान्त ने कहा कि स्टेशन का नामकरण अंग्रेज अफसर के नाम पर होना स्वतंत्रता सेनानियों के साथ भद्दा मजाक जैसा है। इसके लिए यात्री कल्याण समिति द्वारा कई बार धरना दिया जा चुका है। टुड़ीगंज यात्री समिति के अध्यक्ष कोमेंद्र सिंह ने कहा कि यह पिछले एक दशक से अधिक समय से इसका नाम बदलकर स्वतंत्रता सेनानी स्वर्गीय हरिहर सिंह के नाम करने की मांग की जा रही है। परन्तु रेलवे विभाग आज भी अंग्रेजों का याद दिलाने के लिए इसका नाम टुड़ीगंज रखा हुआ है। जब तक बदला नहीं जाता तबतक क्षेत्र के लोगों का यह आंदोलन जारी रहेगा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आप अपने अंदर भरपूर विश्वास व ऊर्जा महसूस करेंगे। आर्थिक पक्ष मजबूत होगा। तथा अपने सभी कार्यों को समय पर पूरा करने की भी कोशिश करेंगे। किसी नजदीकी रिश्तेदार के घर जाने की भी योजना बनेगी। तथ...

और पढ़ें