पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हादसा:चलती कार पर पलटा गिट्टी लदा ट्रक, गया के फौजी पति-पत्नी व मासूम बेटे समेत 3 की मौत

दुर्गावती6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
दुर्गावती में हुए हादसे के बाद जुटी लोगों की भीड़। - Dainik Bhaskar
दुर्गावती में हुए हादसे के बाद जुटी लोगों की भीड़।
  • सूचना पर तत्काल मौके पर पहुंचे मोहनिया एसडीएम और एसडीपीओ
  • कार सवार फौजी पत्नी और बच्चों के साथ यूपी के मथुरा से लौट रहे थे अपने घर गया जिले के डिहा पुलिस स्टेशन गुरारू

कैमूर जिले में राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या दो पर दुर्गावती थाना क्षेत्र के खामीदौरा मोड के पास टाटा मोटर्स के समीप स्विफ्ट डिजायर कार पर साथ चल रहा एक गिट्टी लदा ट्रक असंतुलित होकर गिर गया। हादसे में कार में सवार चार लोगों में तीन डिहा पुलिस स्टेशन गया गुरारू निवासी फौजी पिंटू कुमार सिंह,पत्नी काजल सिंह और बेटा रेहान की मौके पर मौत हो गई जबकि कार की अगली सीट पर बैठी श्रेया 8 वर्ष मामूली चोट के बाद बाल-बाल बच गई, लेकिन बच्ची ने हादसे में अपने पिता मां और छोटे भाई को खुद की आंखों के सामने खो दिया।

चश्मदीदों के अनुसार ट्रक द्वारा कार को ओवरटेक करने के दौरान ये हादसा हुआ। हादसे के बाद आस पास मौजूद लोगों ने पुलिस को जानकारी दी। हादसा के बाद कार ट्रक के निचे ही दबी रही। इस दौरान सड़क पर लंबा जाम लग गया। दुर्गावती थाना पुलिस ने मौके पर पहुंच कर यातायात को डायवर्ट कर हाईवे से वाहनों को हटवाया। पुलिस को शवों को निकालने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ी। तीनों शवों को पहले प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र दुर्गावती ले जाया गया, यहां चिकित्सकों ने तीनों को मृत घोषित कर दिया वहीं हादसे में जख्मी बच्ची का प्राथमिक उपचार किया गया। हादसे की सूचना पर एसडीओ मोहनिया अमृसा बैंस और एसडीपीओ रघुनाथ सिंह भी मौके पर पहुंचे।

ट्रक के नीचे दबी कार को ट्रैक्टर से खींच कर निकाला गया

गिट्टी को अनलोड किया गया तब जाकर क्रेन और जेसीबी मशीन से किसी तरह ट्रक को उठाया गया तब ट्रक के नीचे दबी कार को ट्रैक्टर से खींच कर निकाला गया।इसके बाद तीनों को गाड़ी के भीतर से निकाल पीएचसी दुर्गावती पहुंचाया गया। आपको बता दें कि कार की अगली सीट पर पिंटू कुमार सिंह की 8 वर्षीय बेटी श्रेया बैठी हुई थी, जिसके पैर में जख्म है। वह बाल-बाल बच गई।काफी मशक्कत के बाद उसे जिंदा निकाला गया। कार के ऊपर ट्रक के गिरते ही भीतर से धुआं निकलने लगा। ऐसी स्थिति में पुलिस प्रशासन और अधिक परेशान हो गया है लेकिन वहां मौजूद काफी संख्या में ग्रामीणों की मदद से और सूझबूझ के साथ क्षतिग्रस्त कार को किसी तरह से बाहर निकाला गया।

खबरें और भी हैं...