प्रशासन / हाइवे पर खुले तेजस्वी भोजनालय पर सियासत तेज, बैनर उतारने पहुंचा प्रशासन

X

  • कार्यकर्ताओं से हुई लंबी बहस के बाद बगैर बैनर हटाए लौट आए अधिकारी

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 07:36 AM IST

दुर्गावती. वैश्विक कोरोना महामारी को लेकर लगाए गए लॉक डाउन के बीच सरकार पलायन कर रहे प्रवासी मजदूरों को सुरक्षित घर तक पहुंचाने के इंतजाम में लगी है। कई सामाजिक और राजनैतिक संगठन भी जगह-जगह कैंप लगाकर प्रवासी मजदूरों की सेवा में जुटे हुए हैं। यूपी बिहार के कर्मनाशा बॉर्डर पर राष्ट्रीय जनता दल द्वारा तेजस्वी भोजनालय खोला गया है। यहां हर दिन करीब चार हजार प्रवासी मजदूरों को नि:शुल्क भोजन कराया जा रहा है। भोजनालय के बाहर राष्ट्रीय जनता दल का बड़ा बैनर भी लगाया गया है।

जिस पर पुलिस प्रशासन ने एतराज जताते हुए गुरुवार की रात करीब 10 बजे बैनर हटवा दिया। बैनर को हटवाने के लिए मोहनिया एसडीएम शिव कुमार राउत और एसडीपीओ रघुनाथ सिंह पहुंचे थे। इस पर राजद कार्यकर्ताओं का कहना था कि अभी चुनाव की अधिसूचना जारी नहीं हुई है और ना ही आदर्श आचार संहिता लागू है। हम लोग श्रमवीरों की मदद में लगे हैं। उन्हें भोजन करा रहे हैं। उनकी सेवा कर रहे हैं। किसी संगठन द्वारा जब शिविर चलाया जा रहा है तो वह अपनी पहचान तो बताएगा ही।
नेशनल हाईवे पर चल रहे हैं कई राहत शिविर
जहां तक अनुमति लेने का सवाल है तो यूपी-बिहार कर्मनाशा बॉर्डर से लेकर कैमूर रोहतास के बॉर्डर तक नेशनल हाईवे 2 की जमीन पर कई जगह शिविर लगाए गए हैं। किसी ने इसकी अनुमति नहीं ली है। नेशनल हाईवे 2 पर कई जगहों पर अतिक्रमण भी है। प्रशासन को राहत शिविर पर नहीं है केवल बैनर पर एतराजन है। जब एसडीएम और डीएसपी ने वहां मौजूद राजद कार्यकर्ताओं से बैनर हटाने की बात कही तो कार्यकर्ताओं ने कहा कि हम लोगों ने बैनर लगाया है, प्रशासन इसे हटा दें।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना