ठगी:पहले ट्रक के लिए लोन दिलाया फिर आठ लाख लेकर भागा ठग

घोसी3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • दो फ्राॅडों ने मिलकर नौसहरा के ग्रामीण को भरोसे में लेकर लगाया चूना

प्रखंड क्षेत्र में एक निजी फाइनेंस कंपनी के कर्मियों के द्वारा ग्राहक के साथ धोखाधड़ी कर लाखो रुपए ठगी करने का मामला प्रकाश में आया है। दरअसल स्थानीय थाना क्षेत्र के नौसहरा गांव के एक व्यक्ति से फाइनेंस कंपनी के एक कर्मी ने जालसाजी कर लाखों रुपए उड़ा लिए जाने का मामला सामने आने के बाद एक बार फिर से निजी फाइनेंस कंपनियों के गोरखधंधे की पोल खुली है। इस संदर्भ में नौसहरा गांव निवासी रंजीत कुमार ने बताया कि उनके द्वारा टाटा फाइनेंस कंपनी गया से ट्रक खरीदने हेतु 2017 में 15 लाख से अधिक लोन लिया था। जिसका उसे सूद सहित करीब 22 लाख रुपया भुगतान करना था। टाटा फाइनेंस कंपनी में कार्यरत वसूली एजेंट अभय कुमार सिंह एवं रणविजय सिंह के द्वारा उसे ऋण दिलाने में पहले मदद दिलाई। उसके बाद भरोसे में लेने के बाद दोनों के द्वारा उससे रिफाईनेंस फार्म पर दस्तखत करवा लिया और उसके ही ट्रक का करीब आठ लाख रिफाइनेंस करवा लिया गया। लेकिन जमा की गई राशि उसके किसी भी बैंक खाते में नहीं आई। दोनों के द्वारा जालसाजी कर अपने खाते में सभी राशि ट्रांसफर करा ली गई। उसे इस बात की भनक तब लगी जब वह अपना किस्त जमा करने फाइनेंस कंपनी के ऑफिस पहुंचा। वहां पहुंचने पर पता चला कि उसके उपर फाइनेंस कंपनी का बकाया करीब 12 लाख बकाया है जबकि उसने आठ लाख रुपए जमा करा दिया है। भुक्तभोगी ने बताया कि जब उसे खुद के ठगे जाने का विश्वास हुआ तो उसने एसपी को आवेदन देकर पूरे मामले में मदद की गुहार लगाई है। अब दोनो शातिर फ्रॉड उसके फोन भी रिसिव नहीं करते और न ही उनके दर्शन हो रहे हैं। बहरहाल इस मामले में पुलिस की ओर से कोई कार्रवाई नहीं की गयी है।

खबरें और भी हैं...