पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

बढ़ी परेशानी:गंडक में छूटा 2 लाख 70 हजार क्यूसेक पानी, तटवर्ती इलाके के छह प्रखंडों में हाई अलर्ट, बांधों पर चौकसी तेज

गोपालगंजएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • आज डेढ़ से 2 फूट तक बढ़ सकता है नदी का जलस्तर, लोगों को ऊंचे स्थलों पर जाने का आदेश
  • दियारे में तेजी से बढ़ रहा पानी, 100 से ज्यादा गांव घिर सकते हैं बाढ़ में, गांव से पलायन शुरू

गंडक नदी आज सभी जगह खतरे के निशान को पार कर जाएगी। नेपाल स्थित गंडक के जल अधिग्रहण वाले पहाड़ों व तराई क्षेत्रों में मुसलाधार बारिश शुरू हो गई है। इससे बाल्मीकि नगर डैम से शुक्रवार को 2.07 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया है। यह अब तक सर्वाधिक वाटर डिस्चार्ज है। सूचना मिलते ही जिला प्रशासन ने बाधों पर चौकसी बढ़ाते हुए तटवर्ती इलाके के लोगों को मवेशियों के साथ ऊंचे स्थान पर तुरंत जाने का आदेश दिया गया है।

2 लाख पानी का डिस्चार्ज आज सुबह जिले के गंडक सीमा में प्रवेश कर जाएगा। इससे नदी के जलस्तर में 2 फूट तक बढ़ोतरी हो सकती है। नए पानी के प्रवेश करते हीं गंडक नदी सभी जगह लाल निशान को पार जाएगी। छह प्रखंडों कुचायकोट, गोपालगंज, मांझा, बरौली, सिधवलिया व बैकुंठपुर के दियारे के सभी गांवों में सूचना करा दी गई है। पानी बढ़ने से इन प्रखंडों के करी 110 गांव बाढ़ के पानी से घिर सकते हैं।
नेपाल में 24 घंटे में 200 मीमी हुई बारिश
नेपाल में भारी बारिश और हिमालय के क्षेत्रों में वर्फबारी शुरू हो गई है। नेपाली मौसम विभाग के अनुसार पिछले 24 घंटे में 200 एमएम बारिश हुई है। इससे नेपाल बराज में पानी लबालब होने लगा है। नेपाली मौसम विभाग ने पहाड़ों व तराई क्षेत्र में 14 जूलाई तक भारी बारिश का अलर्ट किया है। इससे गंडक में पानी का डिस्चार्ज लेवल और बढ़ सकता है।

दियारा क्षेत्र में फैल सकता है पानी
गंडक का जलस्तर बढ़ने और जिले में बारिश के कारण दियारा क्षेत्र में पानी फैल सकता है। इससे नदी के नीचले हिस्से में बसे करीब 110 गांव बाढ़ की जद में आ सकते हैं। इन गांवों में कुचायकोट के काला मटिहनियां, धूप सागर, सलेपुर, जमुनियां, गंम्हरिया, गुमनियां, बरईपटी, सदर प्रखंड के पथरा, बरईपटी, मशान थाना, विसंभरपुर, मांझा प्रखंड के गौसियां, धामापाकड़, पुरैना, पथरा, भौसहीं, बरौली प्रखंड के देवापुर, प्यारेपुर, सोनवर्षा, रुपनछाप, बतरदे, परसौनी, सिकटियां, सलेमपुर, हसनपुर, बलरा सिघवलिया प्रखंड के सलेपुर, बंजरिया, अमरपुरा, डुमरियां, जोगीरहां, बैकुंठपुर प्रखंड के दीपउ, खोरमपुर, महारानी, उसरी, टंडसपुर, बनौरा, गम्हारी, चिउटांहां, पकहां, सितलपुर, सलेमपुर, अदमापुर, फैजुल्लाहपुर, मूंजा, मटियारी, प्यारेपुर, आशा खैरा, महम्मदपुर आदि गांवों में बाढ़ का पानी फैल सकता है।

गह है विक प्वाइंट
संभावित बाढ़ की आशंका को लेकर दियारावासी दहशत में हैं। कारण कि पिछले साल टूटे बांधों की मजबूतीकरण का काम तो किया गया। लेकिन कुचायकोट के काला मटिहनियां से बैकुंठपुर के प्यारेपुर तक सारण बांध सहित राजस्व छरकियां  13 जगहों पर कमजोर हैं। मूंजा, हेमुछपरा, सलेमपुर, अदमापुर, सीलतपुर, आशा खैरा, पतहरा, मशान थाना, हीरापाकड़ में बांधों पर पानी का दबाव पड़ सकता है।
हर परिस्थिति से निपटने के लिए प्रशासन अलर्ट
नेपाल बराज से पहली बार ज्यादा मात्रा में पानी छोड़े जाने से जिला प्रशासन चौकस हो गया है। जिला आपदा प्रबंधन पदाधिकारी शम्स जावेद ने बताया कि सभी अंचलाधिकारियों व थानों को अलर्ट कर दिया गया है। तटबंधों पर निगरानी बढ़ा दी गई है। बांधों की सुरक्षा के लिए चौकीदार व प्रत्येक 10 किलोमीटर पर 1 जेई की प्रतिनियुक्ति की गई है। बाढ़ नियंत्रण विभाग के तीन सहायक अभियंता और कार्यपालक अभियंता मॉनिटरिंग करेंगे।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- धार्मिक संस्थाओं में सेवा संबंधी कार्यों में आपका महत्वपूर्ण योगदान रहेगा। कहीं से मन मुताबिक पेमेंट आने से राहत महसूस होगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा और कई प्रकार की गतिविधियों में आज व्यस्तता बनी...

और पढ़ें