कार्रवाई:25 हजार से लेकर 5 लाख रुपए तक होगा जुर्माना

गोपालगंज9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पेशेवर अपराधियों और उन्माद फैलाकर अशांति पैदा करने वालों की अब खैर नहीं

होली,रामनवमी, शब-ए-बरात एवं आगामी पंचायत चुनाव को लेकर राज्य स्तर पर विधि-व्यवस्था की समीक्षा की गई। जिसमें होली, शब ए बारात को लेकर अनुमंडल स्तर पर शांति समिति की बैठक करने, बड़े अपराधियों एवं बड़े माफिया के विरुद्ध कार्रवाई करने, रात्रि गश्ती करने, जिले में लगातार छापेमारी करने, एएसडीएम व एसडीएम को नियमित रूप से प्रतिदिन कोर्ट करने का निर्देश दिया गया।

साथ ही जिले की दवा दुकानों के साथ साथ नौसादर एवं स्प्रिट की जांच करने का भी निर्देश दिया गया। शुक्रवार की शाम विधि-व्यवस्था को लेकर वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए एडीजी विधि व्यवस्था ने अधिकारियों को निर्देश दिया।

25 हजार से लेकर 5 लाख रुपए तक किया जाएगा जुर्माना
विधि-व्यवस्था की समीक्षा के बाद जिला पदाधिकारी डॉ नवल किशोर चौधरी ने शनिवार को भास्कर से बातचीत करते हुए कहा कि पेशेवर अपराधियों और माफियाओं के विरुद्ध भी जिले में अभियान चलाकर कड़ी कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी। इसके साथ ही होली,रामनवमी, शब-ए-बरात एवं आगामी पंचायत चुनाव में धारा 107 और 111 के तहत कार्रवाई की जाएगी।

पहली बार बांड तोड़ने वाले आसमाजिक तत्वों पर कड़ी कार्रवाई जिला प्रशासन करने जा रही है। बांड तोड़ने वाले पकड़े गए तो उसकी आर्थिक स्थित के अनुसार जुर्माना लेने के बाद छोड़ा जाएगा। 25 हजार से लेकर 5 लाख रुपए तक जुर्माना की राशि वसूली जाएगी।

शांतिपूर्ण मनाएं पर्व: जिले के पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों के साथ शनिवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर आवश्यक निर्देश दिए गए है। उन्होंने कहा कि आगामी शब-ए-बारात, रामनवमी तथा पंचायत चुनाव जैसे पर्व व त्योहार पड़ रहे हैं। इन त्योहारों तथा प्रस्तावित पंचायत निर्वाचन के दृष्टिगत चुस्त-दुरुस्त कानून व्यवस्था तथा शान्तिपूर्ण वातावरण बनाए रखने के लिए अभी से कार्यवाही सुनिश्चित करने का आदेश दिया गया है।

कमजोर वर्गों, महिलाओं व बालिकाओं पर होने वाले अपराध बर्दाश्त नहीं
जिलापदाधिकारी ने कहा कि सोशल मीडिया के सभी प्लेटफार्मों पर निगाह रखते हुए आपत्तिजनक तथा भ्रामक पोस्ट करने वालों के विरुद्ध प्रभावी कानूनी कार्रवाई की जाएगी। किसी भी हाल में अफवाहों को फैलने से रोका जाएगा। समाजविरोधी व राष्ट्रविरोधी तत्वों के खिलाफ समय से कार्यवाही सुनिश्चित हो इसके लेकर अलग से बैठक की जाएगी।समाज के कमजोर वर्गों, महिलाओं व बालिकाओं के विरुद्ध होने वाले अपराधों पर भी शीघ्रता से कार्रवाई करने के लिए सभी थाने का एसपी के माध्यम से निर्देश जारी कराएं गए है।

जिले में शान्ति व्यवस्था कायम रखना पहली प्राथमिकता: जिला पदाधिकारी ने कहा कि पुलिस तथा जिला स्तरीय व प्रखंड के अधिकारियों को त्योहारों तथा प्रस्तावित पंचायत निर्वाचन को सुचारु रूप से सम्पन्न कराने के लिए अपनी-अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन करने का आदेश दिया गया है। उन्होंने कहा कि हर स्तर पर सुरक्षा व्यवस्था को चाक-चौबन्द रखने तथा असामाजिक तत्वों,अपराधियों पर कड़ी निगाह रखने के भी निर्देश दिए है। उन्होंने कहा कि हमारी पहली प्राथमिकता में जिले में शान्ति व्यवस्था कायम रखना है। शरारती तत्वों से सख्ती से निपटा जाए।

खबरें और भी हैं...