बहुत बड़ा संकट:27 दिन में 2721 कोरोना के मरीज और 19 मौत चार दिन में सामने आए एक हजार, 166 नए मामले

गोपालगंज6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ये हैं कोरोना दूत । - Dainik Bhaskar
ये हैं कोरोना दूत ।
  • 13% हुई संक्रमण दर, बाजार और शादी-विवाह समरोह में सामान्य दिनों की तरह दिख रही भीड़

27 दिन में 2721 कोरोना के मरीज और 19 मौत...यह काेराेनाकाल के सबसे दर्दनाक आंकड़े हैं। हर दिन स्थिति विकराल होती जा रही है। रोजाना जांच में 150 से ज्यादा पॉजिटिव मिल रहे हैं। बात करें इस सप्ताह की तो, महज 4 दिन में ही एक हजार मामले सामने आ गए। सामवार को 134, मंगलवार को 500, बुधवार को 195 और गुरुवार को 166 पॉजिटिव मिले। संक्रमण का बढ़ता ग्राफ हर दिन डरा रहा है। इस बीच राहत देने वाली खबर यह है कि जिले में फिर 303 लोगों ने वायरस पर जीत हासिल की है। वहीं जिला प्रशासन की सतर्कता और स्वास्थ्य विभाग की बेहतर कार्यशैली से दूसरे जिलों के मुकाबले हम काफी अच्छी स्थिति में हैं। अस्पतालों में ना तो ऑक्सीजन की कमी है और बेड के लिए यहां मारामारी है। कुल मिलाकर मरीजों के इलाज के लिए यहां बेहतर प्रबंध किए गए हैं।

राहत की खबर : इलाज के हैं अच्छे प्रबंध, 303 मरीज ठीक हुए, ऑक्सीजन और बेड की कोई कमी नहीं
चिंता : 10 दिन पहले 100 में से 4 पॉजिटिव, अब 13
जिले में संक्रमण की दर 37 फीसदी तक पहुंच गई है। 10 दिन पहले यह दर 5 फीसदी थी। संक्रमण दर 13 पहुंचने का सीधा मतलब यह है कि अब 100 सैंपल में से 13 पॉजिटिव मिल रहे हैं। एक्सपर्ट्स कहते हैं-यदि ऐसे ही संक्रमण का ग्राफ बढ़ता रहा तो एक सप्ताह में ही यह 20 से ज्यादा हो जाएगी।

डर : 1.45% गिरी रिकवरी दर : 166 नए लोगों के संक्रमित होने के बाद रिकवरी दर 1.45% गिर कर 72.07% पर आ गया है। एक्टिव मरीज अभी 2208 हैं। बता दें कि कोरोना काल के 13 महीने में कुल 8 हजार 389 लोग वायरस से संक्रमित हुए हैं। इनमें से 6 हजार 46 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। 35 लोगों की मौत भी हो चुकी है। लगातार मरीज मिलने से जिले का रिकवरी रेट काफी गिर गया है। एक दिन पहले यह 73.52% था।

बड़ी चुनौती : इलाज तो ठीक है, पर भीड़ को कैसे कंट्रोल करेंगे?
जिले में ऑक्सीजन और बेड की कहीं कमी नहीं है। जरूरत के अनुसार रेडमेसिविर की कमी भी नहीं दिख रही है। मरीज भी तेजी से रिकवर हो रहे हैं, लेकिन रिकवरी से ज्यादा संक्रमित होकर आ रहे हैं। कारण कि शादी-विवाह व बाजारों की भीड़ कम नहीं हो रही है। बाजार व पार्टी-फंक्शन में लोग बिना मास्क के पहुंच रहे हैं। साेशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ रही है। प्रोटोकॉल का पालन कराने में 24-24 घंटे ड्यूटी करके सुरक्षाकर्मी भी थक चुके हैं। आंबेडकर चौक पर मौजूद एक पुलिसकर्मी ने कहा कि -उन्हें अब सेहत खराब होने की चिंता सताने लगी है।

चेतावनी : ग्रामीण क्षेत्र में भी तेजी से फैलने लगा संक्रमण
गुरुवार को जिले में 166 पॉजिटिव मिले हैं। इनमें सबसे ज्यादा मरीज ग्रामीण इलाके कै हैं। शहर शहरी क्षेत्र गोपालगंज, मीरगंज, बरौली व कटेया में 54 लोग पॉजिटिव आए हैं। वहीं 112 लोग ग्रामीण इलाके में संक्रमित हुए हैं। इनमें सबसे ज्यादा कुचाकोट, हथुआ, भोरे व उचकागांव के हैं।

​​​​​​​

खबरें और भी हैं...