पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सतर्कता जरूरी:294 मिले नए पॉजिटिव, 32 दिन में कोरोना मीटर पहुंचा 4270 पर, 810 लोग हुए रिकवर

गोपालगंज12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
चंद्रगोखुला रोड में उमड़ी भीड़। गाइडलाइन का जरा भी ध्यान नहीं। - Dainik Bhaskar
चंद्रगोखुला रोड में उमड़ी भीड़। गाइडलाइन का जरा भी ध्यान नहीं।
  • कोरोना के मरीजों की लगातार बढ़ रही संख्या के बाद भी बाजार में सोशल डिस्टेंसिंग हुई दरकिनार

जिले में कोरोना हर दिन नया रिकार्ड बना रहा है। बीते 24 घंटे में 294 नए पाॅजिटिव मरीज सामने आए हैं। मई महीने के महज दो दिनों में ही 659 मरीज निकल चुके हैं। संक्रमितों का लगातार बढ़ते ग्राफ से जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की नींद उड़ गई है। संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए प्रशासन कदम-दर-कदम उठा रहा है। नए-नए गाइडलाइन जारी किए जा रहे हैं। भीड़ नियंत्रित करने के लिए सख्ती बरती जा रही है। बावजूद कोरोना के खिलाफ लड़ने के लिए लागू की गई सख्ती को ज्यादातर लोग गंभीरता नहीं ले रहे हैं। ...और नहीं ऐसे लोगों में संक्रमण का कोई खौफ दिख रहा है। खासकर युवा वर्ग व टीन एजर की बात करें तो वे बहाने बनाकर घर से निकलते रहे। दूसरी तरफ शहर व बाजार में प्रोटोकॉल का अनुपालन कराने में प्रशासनिक अमला व पुलिस दोनों ही अपनी जिम्मेदारी निभाने में ढीली नजर आई। जहां बाजारों में लोगों ने भीड़ जुटाकर गाइडलाइन की धज्जियां उड़ाते रहे।

लोगों में पुलिस का डर नहीं
पुलिस की तैनाती भी शहर में कमजोर नजर आई। नतीजतन लोगों में न कानून का डर दिखा और न ही संक्रमण की कोई चिंता। दिन भर सड़कों पर चहल-पहल बनी रही। कुछ जरूरत के लिए तो ज्यादातर लोग कार, बाइक व स्कूटी से विभिन्न चौक-चौराहों और बाजारों के बीच होते हुए शहर का जायजा लेने निकलते रहे। देर शाम तक शहर की गलियों में भी आना जाना लगा रहा। सुबह 9 बजे के बाद सामान्य दिनों जैसी भीड़ सड़कों पर दिखाई देने लगी।

गाइडलाइन फॉलो नहीं होने के 2 कारण

  • शहर में पुलिस की तैनाती कम थी। जहां थी वहां पुलिस कर्मी एक जगह बैठकर ड्यूटी का कोरम पूरा कर रहे थे। जबकि पुलिस ने दावा किया था कि पूरी सख्ती के साथ गाइडलाइन का का पालन करवाया जाएगा।
  • कोरोना संक्रमण का चेन तोड़ने के लिए जारी गाइडलाइन काे लोग गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। तरह-तरह के बहाने बनाकर लोग घरों से निकल रहे हैं। बाइक पर दो लोग बिना रोक-टोक घूम रहे हैं। कार्रवाई के नाम पर केवल मास्क देखा जा रहा है।

लोगों में पुलिस का डर नहीं
पुलिस की तैनाती भी शहर में कमजोर नजर आई। नतीजतन लोगों में न कानून का डर दिखा और न ही संक्रमण की कोई चिंता। दिन भर सड़कों पर चहल-पहल बनी रही। कुछ जरूरत के लिए तो ज्यादातर लोग कार, बाइक व स्कूटी से विभिन्न चौक-चौराहों और बाजारों के बीच होते हुए शहर का जायजा लेने निकलते रहे। देर शाम तक शहर की गलियों में भी आना जाना लगा रहा। सुबह 9 बजे के बाद सामान्य दिनों जैसी भीड़ सड़कों पर दिखाई देने लगी।

भास्कर पड़ताल...ऐसा दिखा नजारा
गुमटी के पीछे चल रही थी सब्जी दुकान
सुबह 11 बजे तक ही सब्जियां व फल बेचने की छूट है। फिर भी दोपहर 2:10 बजे दिघवा दुबौली में दुकान व गुमटियों के पीछे सब्जी बेचने का क्रम चलता रहा। दुकान के सामने खड़ा व्यक्ति आने जाने वालों को इशारे से बुलाकर सब्जी बेच रहा था।

दवाई की दुकानों पर नहीं दिखी डिस्टेंसिंग
सदर अस्पताल रोड में सर्वाधिक दुकानें दवा की हैं। दोपहर 12:35 बजे मेडिकल हॉल पर दवा लेने की होड़ मच गई। दुकानदार रस्सी तानकर कांउंटर से ग्राहकों को दूर जरूर रखे थे, लेकिन ग्राहकों के खड़े होने के लिए गोल घेरा बनाकर दुकानदारों ने डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कराया।

कोरोना मीटर - 4270
32 दिनों में कोरोना संक्रमितों की संख्या 4270 हो गई है। हालांकि एक सप्ताह में 810 लोगों को वायरस को हराया है। बावजूद एक्टिव केसों की संख्या अभी 3460 है। संक्रमण और रिकवरी की बात करें तो दोनों स्थितियों में बड़ा फासला है। जिले में संक्रमण का दर 24 फीसदी है। वहीं कोरोना काल में 13 महीने का रिकवरी कांउंट 65.14 प्रतिशत है।
1% बढ़ी रिकवरी रेट
24 घंटे में 294 नए लोगों के संक्रमित होने व 108 लोगों के स्वस्थ्य होने बाद जिले का रिकवरी दर 1% बढ़ कर 65.14 % पर आ गया है। लगातार मरीज मिलने से जिले का रिकवरी रेट काफी गिर गया है। एक दिन पहले यह 64.14% था। मार्च 2020 से अब तक 9 हजार 938 लोग कोरोना से संक्रमित हुए हैं। इनमें से 6294 लोगों ने संक्रमण पर जीत हासिल की है। वहीं 13 महीने में कोरोना से 36 लोगों की जानें गई है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय अनुसार अपने प्रयासों को अंजाम देते रहें। उचित परिणाम हासिल होंगे। युवा वर्ग अपने लक्ष्य के प्रति ध्यान केंद्रित रखें। समय अनुकूल है इसका भरपूर सदुपयोग करें। कुछ समय अध्यात्म में व्यतीत कर...

    और पढ़ें