पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

फैसला:कोर्ट ने हत्या के मामले में दो को सुनाया आजीवन कारावास

गोपालगंज3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • ताश खेलने के दौरान हुआ था विवाद,लाठी डंडे से मारकर हुई थी हत्या
  • सजा के साथ-साथ 20 हजार रुपए का लगाया अर्थदंड , ढाई साल में आया फैसला

हत्या के मामले में दोषी पाते हुए एडीजे प्रथम गुंजन पांडेय की कोर्ट ने दो लोगों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। दोनों पक्षों के दलील और गवाहों की गवाही सुनने के बाद कोर्ट ने अपना फैसला सुनाया। सजा के साथ कोर्ट ने दोनों पर 20-20 हजार रुपए अर्थदंड लगाया है।अर्थदंड नहीं देने पर दोनों को छह-छह माह की अतिरिक्त सजा भी काटनी पड़ेगी।
कोर्ट में चल रही थी सुनवाई
अनुसंधानक की तरफ से आरोप पत्र समर्पित किए जाने के बाद एडीजे प्रथम की कोर्ट में मामले की सुनवाई चल रही थी। अभियोजन पक्ष से एपीपी विजय कुमार वर्मा और बचाव पक्ष से अधिवक्ता सारीक इमाम की दलीलें सुनने के बाद कोर्ट ने दोनों को दोषी पाते हुए सजा सुनाई।
विवाहिता की मां ने दर्ज कराई थी एफआईआर
मामले को लेकर मृतका की मां फुलवंती देवी ने दामाद धर्मेंद्र पांडेय उर्फ लाली पांडेय, भसुर मुन्ना पांडेय, देवर जगमोहन पांडेय, ननदोई उदय पांडेय, ननद पार्वती देवी और सुगंधी देवी और ससुर राधा पांडेय सहित सात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई थी।

कांड के अनुसंधानक की तरफ से पति धर्मेंद्र पांडेय के खिलाफ आरोप पत्र समर्पित किया गया था।उसके बाद मामले की सुनवाई एडीजे 2 की कोर्ट में चल रही थी। अभियोजन पक्ष से एपीपी अरविंद कुमार सिंह और बचाव पक्ष से अधिवक्ता अबू शमीम अंसारी की दलीलें सुनने के बाद कोर्ट ने पति को दोषी पाते हुए सजा सुनाई।

मृतक के भाई ने दर्ज कराई थी एफआईआर
उचकागांव थाने के गुरमहा गांव के अवध लाल प्रसाद के बगीचे में 15 जुलाई 2018 को उसी गांव के कुछ लोग ताश खेल रहे थे। अवध लाल प्रसाद के भाई ज्ञानचंद कुमार जब उन्हें मना करने गए तो जानलेवा हमला कर उन्हें गंभीर रूप से घायल कर दिया गया था।अगले दिन सदर अस्पताल में इलाज के दौरान उनकी मृत्यु हो गई थी।इस मामले को लेकर अवध लाल प्रसाद ने अपने ही गांव के कपूरी प्रसाद और दया राम प्रसाद के खिलाफ थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई थी।

दहेज के लिए पत्नी को जलाकर मारने वाले पति को कोर्ट से मिली 7 साल की सजा
एडीजे दो लवकुश कुमार की कोर्ट ने दहेज के लिए अपनी पत्नी को जिंदा जलाकर मारने के मामले में दोषी पाते हुए सात साल की कैद सुनाई। सजा सुनाए जाने के बाद उसे जेल भेज दिया गया। बताया जाता है कि यूपी के कुशीनगर जिले के पडरौना थाने के त्रिलोकपुर खुर्द गांव के झब्बू लाल पांडेय की पुत्री शशि पांडेय की शादी थावे थाने के चित्तू टोला गांव के राधा पांडेय के पुत्र धर्मेंद्र पांडेय उर्फ लाली पांडेय के साथ वर्ष 2004 में हुई थी। गवना के बाद वर्ष 2007 में वह ससुराल गई थी।उसके बाद से ही उसे दहेज में बाइक के लिए बराबर प्रताड़ित किया जाता रहा और मांग पूरी नहीं होने पर 23 अगस्त 2007 को उसकी हत्या कर दी गई थी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा पारिवारिक गतिविधियों में आपकी व्यस्तता बनी रहेगी। किसी प्रिय व्यक्ति की मदद से आपका कोई रुका हुआ काम भी बन सकता है। बच्चों की शिक्षा व कैरियर से संबंधित महत्वपूर्ण कार्य भी संपन...

    और पढ़ें