असमंजस / श्रावणी मेले की तैयारी में हो रही देरी, सरकारी गाइडलाइन नहीं मिलने से असमंजस

Delay in preparation of Shravani fair, confusion over not getting the official guideline
X
Delay in preparation of Shravani fair, confusion over not getting the official guideline

  • सिंहासनी मंदिर में सावन महोत्सव को लेकर अभी तक तय नहीं, छह दिन बाकी
  • कोरोना काल में सिंहासनी महोत्सव की कम हुई उम्मीद, मंदिर समिति भी कर रही गाइड लाइन का इंतजार

दैनिक भास्कर

Jun 30, 2020, 04:00 AM IST

गोपालगंज. छह दिन बाद सावन चढ़ रहा है। सावन का महीना शुरू होते ही बैकुंठपुर का सिंहानीधाम हर-हर महादेव के जयकारे से गूंजने लगता है। एक महीने तक चलने वाले इस मेले में यहां जलार्पण के लिए प्रदेश के कोने-कोने से श्रद्वालु पहुंचते हैं। रोजाना 50 हजार श्रद्वालु शिवलिंग पर जलाभिषेक करते हैं। सोमवार और शुक्रवार को यह संख्या 1 लाख से ज्यादा हो जाती है। मंदिर समिति द्वारा श्रावणी मेले की तैयारियां एक महीना पहले शुरू हो जाती है, लेकिन इस बार मंदिर कमेटी मेले को लेकर असमंजस में है। मंदिर का रंग-रोगलन तो हो गया है, लेकिन सरकारी स्तर से अभी तक कोई गाइडलाईन जारी नहीं होने से मेला और महोत्सव को लेकर उहापोह की स्थिति बनी है।
एसडीएम बोले - जल्द ही होगा निर्णय    
प्रखंड के ऐतिहासिक धनेश्वरनाथ मंदिर न्यास के कार्यकारी अध्यक्ष प्रभात कुमार पुरी ने बताया कि सावन का महिना शुरू होने में एक सप्ताह शेष हैं। बिहार सरकार का गाइड लाइन अभी नही आया है। जिससे जिला प्रशासन के साथ अब तक बैठक भी नहीं हो सकी है। मंदिर कमेटी के सदस्यों ने सदर एसडीएम उपेंद्र पाल से मिलकर गाइड लाईन की मांग की। एसडीएम ने कहा कि बिहार सरकार की गाइड लाइन जल्द आने वाली है। गाइड लाइन मिलने के बाद बैठक का आयोजन कर श्रावणी महोत्सव की तैयारी की जाएगी।

जगह तलाशने पहुंच रहे  है व्यापारी, लेकिन तय नहीं
मंदिर कमेटी के सदस्य चिंतित हैं कि इस बार कोरोना संक्रमण के बीच किस प्रकार तैयारी किया जाए। मंदिर में उमड़ने वाली श्रद्धालुओं के सैलाब व शोभायात्रा को लेकर उहापोह की स्थिति बनी हुई है। उधर दुकानें लगाने के लिए बाहर के व्यापारी जगह सुरक्षित करने के लिए कास्तकारों से संपर्क करने लगे हैं। हालांकि बाहरी व्यापारी इस बार कम संख्या में पहुंच रहे हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना