हर स्तर पर तैयारी:बुजुर्गों व हेल्थ वर्करों को 10 से लगेगी प्रिकॉशन डोज

गोपालगंज16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कोरोना का टीका लेते लाभुक - Dainik Bhaskar
कोरोना का टीका लेते लाभुक
  • संक्रमण से बचाव के लिए जरूरी है टीका, गंभीर बीमारी वाले बुजुर्गों को डॉक्टरों से लेनी होगी सलाह

जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या धीरे-धीरे बढ़ रही है। इससे निपटने के लिए हर स्तर पर तैयारी की जा रही है। 3 जनवरी से 15 से लेकर 17 वर्ष के किशोर-किशोरियों का टीकाकरण शुरू हो चुका है। स्कूल स्तर पर टीकाकरण सत्र आयोजित किया जा रहा है। अब इसी कड़ी में 10 जनवरी से 60 वर्ष से ऊपर बुजुर्गों, हेल्थ केयर वर्कर और फ्रंटलाइन वर्करों को प्रिकॉशन डोज दिया जायेगा। बताया गया है कि बुजुर्गों, फ्रंटलाइन वर्करों और हेल्थ केयर वर्करों को को प्रिकॉशन डोज के तौर पर समरूप वैक्सीन की एक और डोज दी जायेगी। सशस्त्र बलों, गृह मंत्रालय और कैबिनेट सचिवालय के तहत विशेष बलों के सभी पात्र एचसीडब्ल्यूएस और एफएलडब्ल्यूएस को एहतियाती खुराक की सुविधा भी दी जा सकती है, जैसा कि पहले दो खुराक टीकाकरण के दौरान किया गया था।

250 लोगों की सैंपल जांच
बैकुंठपुर अस्पताल में शुक्रवार को कोरोना जांच के लिए 250 लोगों का सैंपल एकत्रित किया गया। अस्पताल प्रभारी डॉ अनिल कुमार सिंह ने बताया कि लैब टेक्नीशियन कुमार दीपक, राजन कुमार सिंह एवं नागेंद्र राय ने आरटीपीसीआर जांच के लिए 125 एवं एंटीजन जांच के लिए 125 सैंपल एकत्रित किया। एंटीजन जांच में रिपोर्ट निगेटिव पाए गए।

किशोर-किशोरियों को दिया जा रहा है टीका
जिले में कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए विभाग प्रतिबद्ध है। अब 15 से 17 वर्ष तक के किशोर-किशोरियों का टीकाकरण शुरू किया गया है। जिले में विद्यालय स्तर पर टीकाकरण केंद्र बनाकर टीका लगाया जा रहा है। टीकाकरण के प्रति किशोर-किशोरियों में काफी उत्साह देखने को मिल रहा है। बिना किसी झिझक और डर के टीकाकरण केंद्रों पर पहुंचकर अपना टीका ले रहे हैं।किशोर-किशोरियों को कोवैक्सीन की डोज लगायी जा रही है। 28 दिन अंतराल पर सेकेंड डोज लगायी जायेगी।
बुजुर्गों के टीके के लिए गाइडलाइंस
60 साल या इससे ऊपर के गंभीर बीमारियों से पीड़ित बुजुर्गों को डॉक्टरों की सलाह के आधार पर दूसरे डोज के 9 महीने या 39 हफ्ते बाद ही तीसरा डोज या बूस्टर डोज लगेगा। 9 महीना या 39 हफ्ते टीके की दूसरी डोज लगने वाली तारीख से माना जाएगा। स्वास्थ्यकर्मियों , फ्रंटलाइन वर्कर और बुजुर्गों को बूस्टर या एहतियाती डोज उनके मौजूदा कोविन अकाउंट के जरिये मिलेगा।
​​​​​​​

खबरें और भी हैं...