पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Gopalganj
  • For The First Time, Big Events Will Not Happen Due To Corona Infection, So There Is No Preparation In Temples, People Will Celebrate In Homes

भगवान श्रीकृष्ण जन्मोत्सव:पहली बार कोरोना संक्रमण के कारण नहीं होंगे बड़े आयोजन इसलिए मंदिरों में तैयारियां भी नहीं, घरों में उत्सव मनाएंगे लोग

गोपालगंज2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर बना है विशेष योग, इस मुहूर्त में पूजा का मिलेगा दोगुना फल

भगवान श्रीकृष्ण जन्मोत्सव मनाने की तैयारियां भक्तों ने शुरू कर दी हैं। जिले में पहली बार कोरोना संक्रमण के कारण बड़े आयोजन नहीं होंगे। मंदिरों में तैयारियां भी नहीं की जा रहीं, लेकिन श्रद्धालु अपनी श्रद्धा के अनुसार व्रत रखकर भगवान श्रीकृष्ण की आराधना करेंगे। 11 अगस्त को जन्माष्टमी का व्रत रखने तथा 12 अगस्त को भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव मनाने की तैयारियां चल रही हैं।
श्रीकृष्ण का जन्म हुआ था रोहिणी नक्षत्र में
हालांकि पंडितों का मानना है कि भगवान श्रीकृष्ण का जन्म रोहिणी नक्षत्र में हुआ था, ऐसे में ज्योतिष गणना कहती है कि जन्माष्टमी पर अष्टमी और रोहिणी नक्षत्र होना चाहिए, लेकिन कई बार ऐसा संयोग बन जाता है कि अष्टमी और रोहिणी नक्षत्र दोनों एक ही दिन नहीं है। इस बार भी कृष्ण जन्म की तिथि और नक्षत्र एक साथ नहीं मिल रहे हैं। ऐसे में पर्व को 11 या 12 अगस्त को मनाने को लेकर असमंजस बना हुआ है। हालांकि जानकारों के मुताबिक जन्माष्टमी 12 अगस्त काे मनाया जाना श्रेष्ठ है।

मंगलवार सुबह 9:06 बजे से शुरू होकर बुधवार 12.47 तक किया जाएगा पूजा
अष्टमी तिथि 11 अगस्त मंगलवार सुबह 9:06 बजे से शुरू हो जाएगी। यह तिथि 12 अगस्त सुबह 11:16 मिनट तक रहेगी। वैष्णव जन्माष्टमी के लिए 12 अगस्त का शुभ मुहूर्त बताया जा रहा है। बुधवार की रात 12.05 बजे से 12.47 बजे तक बाल-गोपाल की पूजा-अर्चना की जा सकती है।

भगवान कृष्ण को खुश करने के लिए चढ़ाएं परिजात के फुल
पंडित विश्वनाथ उपाध्याय ने बताया कि जन्माष्टमी के दिन पूजा में परिजात के फूल अवश्य शामिल करने चाहिए। भगवान कृष्ण भगवान विष्णु के अवतार हैं और भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी को परिजात के फुल बहुत प्रिय हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- अध्यात्म और धर्म-कर्म के प्रति रुचि आपके व्यवहार को और अधिक पॉजिटिव बनाएगी। आपको मीडिया या मार्केटिंग संबंधी कई महत्वपूर्ण जानकारी मिल सकती है, इसलिए किसी भी फोन कॉल को आज नजरअंदाज ना करें। ...

और पढ़ें