• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Gopalganj
  • For The First Time In Sawan, There Is No Queue Of Devotees, The Temple Complex Is Almost Deserted, On The Second Day Only People Of The Count Arrived To Visit, The Silence In The Temple

कोरोना का असर:सावन में पहली बार भक्तों की कतार नहीं, मंदिर परिसर लगभग सूना, दूसरे दिन भी गिनती के लोग ही पहुंचे दर्शन करने, मंदिर में पसरा रहा सन्नाटा

गोपालगंजएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • भक्तों के बिना रहे भगवान, नहीं सुनाई दी बोल बम की गूंज

हर साल सावन के पहले सोमवार को श्रद्धालुओं की भीड़ से भरा रहने वाला मंदिर परिसर इस बार सूना ही रह गया। गर्भगृह में प्रवेश पर रोक है। यहां तक मंदिर के अंदर जाने पर रोक लगा दिया गया है। जो भक्त मंदिर आ रहे है, उन्हें दूर से ही भोले शंकर का दर्शन करना पड़ा। शहर के एक दर्जन शिवालयों मेंे सावन माह में बोल बम की गूंज नहीं सुनाई पड़ रही है। पिछले वर्षों तक जिले के शिव मंदिरों में जलाभिषेक करने के लिए लंबी लाइन शिव मंदिरों में लगी रहती थी।

बाबा बैजनाथ धाम जाने कांवरियों का जत्था थावे मंदिर आकर माता के दर्शन करने के बाद ही बाबाधाम जाने के लिए निकलते थे। जिले भर की सड़कों में कांवरियों के द्वारा बोल बम की गूंज सुनाई देती थी। पर इस बार कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए न तो सड़कों पर कांवरियों की भीड़ दिख रही है  न ही बोल बम की गंूज सुनाई दी। ऐसा नहीं कि भक्त पूजा करने मंदिर नहीं पहुंचे। भक्तों ने मंदिर पहुंचकर पूजा अर्चना की लेकिन पिछले सालों की तुलना में नहीं के बराबर।
श्रद्धालूओं की संख्या रही कम
शहर के बीचोंबीच शिवमंदिर में सावन के दूसरे दिन भी एक एक करके जलाभिषेक करने श्रद्धालु पहुंचे। उसी प्रकार पुलिस लाइन स्थित शिव मंदिर में श्रद्धालुओं की संख्या कम रही। मंदिर के पुजारी ने बताया कि कोरोना काल के कारण पिछले वर्ष की अपेक्षा इस वर्ष कम संख्या में ही श्रद्धालु पहुंच रहे है। सावन के पहले सोमवार को दिनभर में 100 से 200 श्रद्धालु पहुंचे। जबकि पिछले वर्ष एक हजार से अधिक भक्त बाबा के जलाभिषेक करने श्रद्धालु पहुंचते थे।

मंदिर में भीड़ नहीं लगे, इसके लिए पुलिस के जवान तैनात
जिला प्रशासन ने मंदिर परिसर में भीड़ नहीं लगाने,मेला,बाजार लगाने पर पाबंदी पहले ही लगा दिया है। इसके साथ ही मंदिर में भीड़ नहीं लगे। इसके लिए जगह-जगह पुलिस बल को तैनात किया गया है। हालांकि श्रद्धालु मंदिर जाने से परहेज भी कर रहे है। घर में ही भगवान शिव के पूजा अर्चना कर रहे है।
मंदिर नहीं जा सकेंगे तो प्रत्येक सोमवार को इस तरह करें अभिषेक
पंडित रामानंद मिश्र बताते है कि कोरोना काल में अगर सावन माह के सोमवार को अगर मंदिर में भगवान शिव को जलाभिषेक अगर भक्त नहीं करते है तो इसके लिए कई उपाय है। दूसरा सोमवार, 13 जुलाई, रेवती नक्षत्र-अनार के रस से शिवजी का अभिषेक करें। ध्यान करें। तीसरा सोमवार, 20 जुलाई, पुनर्वसु नक्षत्र -दुग्धाभिषेक कर शिव को चंदन का लेप लगाएं।चौथा सोमवार, 28 जुलाई, चित्रा नक्षत्र -शहद मिश्रित दूध को पीपल पत्ते में लेकर अभिषेक करें।पांचवा सोमवार, 3 अगस्त, श्रवण नक्षत्र-गन्ने के रस और दूध से शिवजी का जल से अभिषेक करें।

खबरें और भी हैं...