पंचायत चुनाव:चुनाव के दूसरे चरण में 59% मतदान महिलाओं ने बढ़-चढ़कर लिया हिस्सा

गोपालगंज2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
विजयीपुर में मतदान करने को लेकर कतार में लगीं महिला मतदाता। - Dainik Bhaskar
विजयीपुर में मतदान करने को लेकर कतार में लगीं महिला मतदाता।
  • दूसरे फेज के मतदान सम्पन्न होने के बाद डीएम व एसपी ने विजयीपुर के मतदाताओं को कहा-धन्यवाद
  • सुबह 7 से शाम 5 बजे तक मत डाले गए, कुछ जगहों पर छिट-पुट घटनाएं हुईं
  • ​​​​​​​बिजली और इंटरनेट के उपलब्ध नहीं रहने के कारण बायोमीट्रिक प्रणाली को आयोग के निर्देश पर बंद कर दिया गया था

पंचायत चुनाव के दूसरे फेज का मतदान बुधवार को शांतिपूर्ण तरीके से सम्पन्न हो गया। एक-दो जगह को अगर छोड़ दें तो कहीं कोई बड़ी हिंसक झड़प नहीं हुई। दूसरे फेज के मतदान सम्पन्न होने के बाद डीएम सह जिला निर्वाचन पदाधिकारी डॉ नवल किशोर चौधरी व एसपी आनंद कुमार ने विजयीपुर प्रखंड के मतदाताओं को धन्यवाद कहा। खासतौर पर महिला मतदाताओं को बढ़चढ़ कर मतदान करने के लिये डीएम शुक्रिया कहा है। डीएम के मुताबिक विजयीपुर प्रखंड में 60 प्रतिशत मतदान हुआ है। इनके मुताबिक आगे भी इसी तरह से शांतिपूर्ण मतदान हो यही जिला प्रशासन की प्राथमिकता होगी। बता दें कि जिले में पंचायत चुनाव का आगाज दूसरे चरण बुधवार से हो गया है। दूसरे चरण के लिए सुबह 7 बजे से शाम 5 बजे तक मत डाले गये। जिले में केवल विजयीपुर में इस चरण में मतदान हुआ।

दूसरे चरण के लिए 201 मतदान केंद्र बनाए गए थे
दूसरे चरण के लिए 201 मतदान केंद्र बनाए गए थे। साथ ही सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए थे। पंचायत चुनाव में पहली बार बायोमेट्रिक तकनीक का प्रयोग किया गया। इसके साथ ही कोविड प्रोटोकॉल का पालन भी अनिवार्य था।\nपंचायत चुनाव में महिलाओं ने निभाया अपना फर्ज \nउन्होंने कहा कि सुबह से शांतिपूर्ण मतदान कराया गया। जहां मतदाताओं ने भयमुक्त होकर मतदान किया। शांतिपूर्ण मतदान के लिये डीएम ने मतदाताओं को दिया धन्यवाद। उन्होंने कहा कि सुरक्षा की तगड़ी व्यवस्था के कारण किसी भी जगह पर कोई हिंसक झड़प सड़प नहीं हुई।

महिलाओं ने सबसे अधिक किया मतदान
जीउविता पर्व होने के बाद भी महिलाओं ने चढ़बढ़ कर मतदान में हिस्सा लिया। इस दौरान मतदाताओं में भारी उत्साह देखा जा गया। बड़ी संख्या में लोग वोट डालने मतदान केंद्रों पर पहुंचे। इस दौरान छोटी-मोटी घटनाओं को छोड़कर आज का चुनाव शांतिपूर्ण रहा। बायोमैट्रिक्स प्रणाली से फर्जी वोटिंग पर अंकुश लगेगा। लेकिन बिजली और इटरनेट के उपलब्ध नहीं रहने के कारण बायोमिट्रिक प्रणाली को आयोग के निर्देश पर बंद कर दिया। डीएम ने बताया कि वोट का प्रतिशत भी घट रहा था। जिसके कारण यह सुविधा को बंद करना पड़ पड़ा।विजयीपुर के कई मतदान केन्द्र से बार-बार ईवीएम के बिगड़ने के कारण मतदाताओं के साथ ही अधिकारियों को भी परेशानियों से दो-चार होना पड़ रहा है। इसकी शिकायत नियंत्रण कक्ष को मिलती रही।

विजयीपुर प्रखंड के 13 पंचायतों में 421 पदों के लिए हुआ चुनाव
गौरतलब है कि दूसरे चरण में विजयीपुर प्रखंड में आज को 13 पंचायतों में 2 जिप सदस्य, 13 मुखिया, 13 सरपंच, 19 पंचायत समिति सदस्य, 187 पंच, 187 वार्ड सहित 421 पदों के लिए मतदान कराया गया। जिसमें 56 हजार 414 पुरुष,53 हजार 843 महिला व 5 जेंडर मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग किया। डीएम ने बताया कि प्रत्येक सेक्टर मजिस्ट्रेट्स को पांच अतिरिक्त ईवीएम दिया गया था। यदि किसी मतदान केंद्र पर ईवीएम में किसी भी प्रकार की कोई गड़बड़ी मिलतीर थी उसे पांच मिनट के अंदर क्लस्टर सेंटर से ईवीएम पहुंच जा रहा था। और ईवीएम को तुरंत रिप्लेस कर दिया जाता था।उन्होंने बताया कि प्रत्येक मतदान केंद्र के लिए क्यूआरटी टीम की नियुक्ति की गई थी।गौरतलब हो कि विजयीपुर प्रखंड के 13 पंचायतों में चुनाव 1061 प्रत्याशी चुनावी मैदान में थे। सबसे ज्यादा वार्ड सदस्य पद के सरपंच पद के लिए चुनावी मैदान में हैं। इसी तरह मुखिया पद के लिए 93, पंचायत समिति सदस्य के लिए 111, ग्राम पंचायत पंच के लिए 202 प्रत्याशी मैदान में हैं। हालांकि 1 सरपंच और 3 वार्ड सदस्य प्रत्याशी निर्विरोध निर्वाचित हो चुके हैं। इस बार पुरूषों से अधिक महिला प्रत्याशी चुनावी मैदान में हैं।

खबरें और भी हैं...