33 लोगों को पी गई शराब:बेतिया-गोपालगंज में लगातार मौतों के बाद बनाई गई जांच टीम, कार्रवाई भी

गोपालगंज25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
शुक्रवार को जगदीशपुर के अस्पताल में इलाजरत लोग - Dainik Bhaskar
शुक्रवार को जगदीशपुर के अस्पताल में इलाजरत लोग

बिहार में जहरीली शराब के चलते कई परिवारों की दिवाली काली हो गई। बुधवार से अब तक पिछले तीन दिनों में 33 लोगों की मौत हुई है। शराब पीने के बाद इनकी तबीयत बिगड़ी थी। इसमें गोपालगंज में 17 और पश्चिम चंपारण में 16 लोग शामिल है। पश्चिम चंपारण जिले के नौतन प्रखंड की दक्षिणी तेल्हुआ एवं झखरा पंचायत में दो दिनों के अंदर 16 लोगों की मौत हो गई है। वहीं अभी दर्जनाें लोग बेतिया, नौतन, जगदीशपुर सहित कई निजी अस्पतालों में भर्ती है। जिनका इलाज भी नाजुक स्थिति में चल रहा है। नौतन में मरने वालों का सिलसिला गुरूवार सुबह से शुरू हुआ जो शुक्रवार तक जारी रहा।

पश्चिम चंपारण के डीएम कुंदन कुमार ने कहा कि प्रथम दृष्टया शराब से ही मौत का मामला प्रतीत हो रहा है। वेरीफिकेशन कराया जा रहा है। जो भी इसमें संलिप्त व दोषी पाए जाएंगे उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई सुनिश्चित है। वहीं गोपालगंज में प्रशासन के अनुसार गोपालगंज में 72 घंटे के अंदर संदिग्ध परिस्थिति में एक-एक कर 11 लोगों की मौत हुई है। वहीं ग्रामीणों ने बताया कि अब तक 14 लोगों की मौत हुई है। जबकि सात लोगों का इलाज जिले के अलग -अलग अस्पतालों में चल रहा है। यहां बुधवार से अब तक 17 लोगों की मौत हो चुकी है।

इस घटना के बाद एसपी आनंद कुमार ने मोहम्मदपुर थानाध्यक्ष और चौकीदार को सस्पेंड कर दिया है। शराब के तीन बड़े कारोबारी की गिरफ्तारी की गई है। डीएम ने लोगों से इलाज के लिए आगे आने की अपील की है। एसपी ने बताया कि शवों का पोस्टमार्टम और एसएफएल जांच कराई जा रही है।

पुलिस मुख्यालय का दावा, 3 जिलों में जहरीली शराबकांड में दस दिनों में 30 लोगों की मौत हुई

राज्य पुलिस मुख्यालय ने गोपालगंज, बेतिया और मुजफ्फरपुर में पिछले 10 दिनों में कथित रूप से जहरीली शराब से 30 व्यक्तियों की मौत की पुष्टि की है। पुलिस मुख्यालय ने गोपालगंज में 11, पश्चिम चंपारण (बेतिया) में 12 और पिछले महीने मुजफ्फरपुर जिला में 7 लोगों की मौत की पुष्टि की है। बेतिया में 10 लोगों का अस्पताल में अभी इलाज चल रहा है। इन तीनों मामलों में 6 प्राथमिकी दर्ज की गई है। एडीजी(मुख्यालय) जीतेन्द्र सिंह गंगवार ने कहा है कि इन मामलों में आपराधिक मुकदमा दर्ज कर लिया गया है और गहन जांच चल रही है। जो भी षडयंत्रकारी होंगे उनके विरुद्ध कठोर कार्रवाई की जाएगी। शराब की सप्लाई करने और बेचने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

मद्य निषेध मंत्री बोले; संभावना है कि जहरीली शराब पीने से मौत हुई, दोषियों पर कार्रवाई होगी

सरकार के मद्य निषेध मंत्री सुनील कुमार ने कहा कि जहरीली शराब पीने से मौत होने की पुष्टि की रिपोर्ट नहीं आई है। लेकिन संभावना है कि जहरीली शराब पीने से मौत हुई होगी। इस संबंध में स्थानीय प्रशासन को पूरी तरह अलर्ट किया गया है। जो भी लोग इसमें शामिल होंगे, उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा इसमें कोई छुपाने वाली बात नहीं है। विभाग सख्ती के साथ कार्रवाई करता आया है और आगे भी करेगा। विभाग ने अभी तक 3 लाख से अधिक लोग गिरफ्तार किए गए हैं, 60 हज़ार से अधिक वाहन जब्त किए गए हैं। राज्य के बाहर से भी 6 हज़ार से अधिक गिरफ्तारी की गई है। मौत के बारे में उन्होंने कहा कि इसकी पुष्टि होते ही जानकारी दी जाएगी।

खबरें और भी हैं...