पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अव्यवस्था:अस्पताल में कई जरूरी दवाओं का कमी, मरीजों को खरीदनी पड़ती है बाहर से

गोपालगंजएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सदर अस्पताल में इन दिनों जरुरी दवाओं की कमी है । पिछले महीने से दवाओं की कमी चल रही है। इन दिनों से स्थिति है कि अस्पताल के दवा काउंटर पर खांसी, दर्द व पैरासिटामोल जैसे सामान्य दवाओं का भी अभाव हो गया है। मरीजों को बाहर से दवाई खरीदनी पड़ रही है। यह स्थिति ओपीडी का है। इमरजेंसी वार्ड में भी 19 तरह की जरूरी दवाएं नहीं हैं। नतीजतन यहां भी इलाज के लिए आए मरीजों के परिजनों को बाहर से खरीदारी करने के लिए पर्ची थमा दी जाती है। रात में आए इमरजेंसी मरीजों की मुश्किलें और बढ़ जाती है। देर रात को शहर के दवा दुकानें बंद हो जाती हैं। पर्ची लेकर मरीज के परिजन सड़कों पर भटकते रहते हैं। दवा नहीं मिलने के कारण गंभीर स्थिति में मरीजों को रेफर कर दिया जाता है।

सीजनल दवाओं का है अभाव मौसम में बदलाव हो रहा है। लोग तेजी से वायरल बीमारियों की चपेट में आ रहे हैं। वायरल बीमारियों में सामान्य दवाई दी जाती है। लेकिन हकीकत है कि यहां कफ सिरप, दर्द का दवा व डायक्लोफेन जैसी जरूरी दवा नहीं है। मौसम के बदलने से खांसी, बुखार और दर्द के इलाज के लिए ओपीडी में मरीजों की भीड़ बढ़ गई है।

तुरंत उपलब्ध होगी
सीएस डॉ. टीएन सिंह ने बताया कि सीजन चेंज होने पर मरीजों की संख्या बढ़ती है। दवा कम होने पर तुरंत डिमांड किया जाता है। कुछ दवाओं की कमी है । इसके लिए राज्य स्वास्थ्य समिति को पत्र लिखा गया है । जल्द हीं सब दवा उपलब्ध हो जाएगी ।

गांठ में पैसे हों तभी कराएं इलाज
दवाओं की कमी से सदर अस्पताल का इमरजेंसी वार्ड मरीजों को इलाज देने में लाचार है। रात के समय बाहर दवाएं नहीं मिल पाती हैं। संयोगवश कोई दवा दुकानदार अपनी दुकान खोलने को तैयार भी हुआ तो मनमानी कीमत पर दवा देते हैं। दवा नहीं मिलने की स्थिति में मरीज को रेफर कर दिया जाता है। ऐसे में गांठे ढीला करना मरीज के परिजनों की मजबूरी बन जाती है।

पैसे खर्च कर के मरीजों को बाहर ले जाना पड़ता है या फिर किसी प्राइवेट नर्सिंगहोम में भर्ती करानी पड़ती है। बता दें कि इमरजेंसी वार्ड में कुल 91 प्रकार की दवा रखनी है। इनमें से 76 तरह की दवा हीं उपलब्ध है। ओपीडी में 71 प्रकार की दवा की जरूरत है, जबकि 61 तरह की दवाई ही मौजूद है। यानी कि ओपीडी और इमरजेंसी में 25 प्रकार की दवाओं की कमी है। इनमें कई महत्वपूर्ण हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- घर-परिवार से संबंधित कार्यों में व्यस्तता बनी रहेगी। तथा आप अपने बुद्धि चातुर्य द्वारा महत्वपूर्ण कार्यों को संपन्न करने में सक्षम भी रहेंगे। आध्यात्मिक तथा ज्ञानवर्धक साहित्य को पढ़ने में भी ...

और पढ़ें