वारदात:वकील केस की पैरवी के लिए साथी के साथ बाइक से कोर्ट आ रहे थे, अपराधी ने गोली मार की हत्या

गोपालगंज2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
वकील के मौत पर डीएम से मिलते हुए विधिक सेवा संघ के अध्यक्ष - Dainik Bhaskar
वकील के मौत पर डीएम से मिलते हुए विधिक सेवा संघ के अध्यक्ष
  • बदमाशों ने चलती बाइक पर पीछे बैठे अधिवक्ता को प्वाइंट ब्लैंक रेंज से मारी सिर में तीन गोली
  • घटनास्थल से मिला तीन खोखा, पहले से बदमाशों के निशाने पर
  • आक्रोशित वकीलों ने गिरफ्तारी की मांग के लिए जाम की सड़क
  • सुरक्षा की मांग को लेकर डीएम व एसपी से मिला प्रतिनिधिमंडल
  • बोर्ड बनाकर हुआ पोस्टमार्टम, खंगाले गए सीसीटीवी फुटेज

इंसाफ के मंदिर से12 किलोमीटर की दूरी पर बदमाशों ने एक क्रिमिनल लॉयर की गोली मारकर हत्या कर दी।हत्या को जिस तरह से अंजाम दिया गया है। इससे स्पष्ट है कि बदमाश हत्या करने के मकसद से ही आए थे।हत्यारे पूरी तरह से पेशेवर है।फिल्मी अंदाज में गोली मारकर बाइक से फरार हो गए। जिले में अधिवक्ता की यह पहली कोई हत्या नही है। इसके पहले भी बदमाशों के निशाने पर अधिवक्ता रहे है।

घर से केस की पैरवी में अपने साथी के साथ बाइक से कोर्ट आ रहे क्रिमिनल लॉयर की बाइक सवार बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी।हत्या को अंजाम देने के बाद बदमाश गोपालगंज की तरफ फरार हो गए। वारदात को अंजाम कुचायकोट के सासामुसा दाहा नदी के पोखरभिंडा के समीप हुआ।हत्या की सूचना मिलते ही साथी अधिवक्ता आक्रोशित हो उठे और गिरफ्तारी की मांग करते हुए मौनिया चौक को जाम कर दिया। पुलिस को घटना स्थल से तीन खोखा बरामद हुआ है। घटना के बाद पुलिस मौके पर पहुंच शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया।जहां बोर्ड बनाकर किया गया।हत्या की असली वजह अबतक सामने नहीं आई है।एसपी आंनद कुमार ने हत्या में शामिल बदमाशों की गिरफ्तारी के लिए एसडीपीओ के नेतृत्व टीम का गठन किया है।

पहली बार में चूक गए थे हत्या करने से बदमाश, इस बार दिया घटना को अंजाम
कुचायकोट निवासी अधिवक्ता राजेश पांडेय मंगलवार की सुबह अपने घर से अपने एक साथी जितेंद्र चौबे के साथ केस की सुनवाई करने के लिए कोर्ट जा रहे थे।इसी दौरान कुचायकोट से पीछा करते आ रहे बदमाशों ने ओवर टेक कर प्वाइंट ब्लैंक रेंज से तीन गोली मार दी।जिसके बाद दोनों बाइक से गिर पड़े।ग्रामीणों की मदद से अधिवक्ता को अस्पताल लाया गया।जहां चिकित्सकों से मृत घोषित कर दिया।परिजनों ने बताया की इसके पहले भी हत्या करने के मकसद से उनपर 26 नवंबर को गोली चलाई गई थी। जिसमें वह बाल बाल बच गए थे।

हत्या के विरोध में अधिवक्ता आज रखेंगे नो वर्क
बार एसोसिएशन के सचिव शैलेंद्र तिवारी ने कहा ‘वकीलों पर हमला बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। पिछले एक साल में तीन वकीलों को टारगेट किया गया है। लेकिन पुलिस प्रशासन की तरफ से कोई मदद नहीं मिल रही है।आज भी अधिवक्ता की गोली मारकर हत्या कर दी गई है।इसके विरोध में नो वर्क रहेगा। 6 घंटे में अपराधियों की गिरफ्तारी नहीं हुई तो आगे उग्र आंदोलन किया जाएगा।​​​​​​​

चर्चा - किसी क्लाइंट के विरोधी ने दी थी हत्या की धमकी, जांच में जुटी पुलिस
अधिवक्ता दिलीप प्रसाद ने कहा कि राजेश पांडेय ने एक केस की पैरवी की थी। इसमें वो जीत गए थे। दो दिन पहले उस क्लाइंट के विरोधी ने राजेश पांडेय को उनके टेबल पर आकर गोली मारकर हत्या करने की धमकी दी थी। पुलिस इस मामले को गंभीरता से लेकर जांच कर रही है।पुलिस के अनुसार हत्या के कारणों का पता लगाया जा रहा है। कुछ लोगों से पूछताछ की जा रही है।​​​​​​​

लोगों की जा रही है पूछताछ
हत्या के बाद हत्यारों की पहचान के लिए पुलिस सड़क किनारे लगे सीसीटीवी फुटेज को खंगाल रही है। कुछ लोगों से पूछताछ भी की जा रही है। वही आधुनिक अनुसंधान का सहारा लिया जा रहा है।
वकील का मोबाइल भी हुआ जब्त
पुलिस ने हत्या की गुत्थी को सुलझाने के लिए डंप डाटा लिया है।ताकि यह पता चल सके कि घटना के एक घंटे पहले और हत्या के वक्त कितने मोबाइल एक्टिव है।पुलिस ने अधिवक्ता के मोबाइल को भी जांच के लिए अपने पास रखा है। एसपी ने बताया की जांच कई बिंदुओ पर हो रही है।
बार एसोसिएशन ने दिया 50 हजार
हत्या के बाद अधिवक्ता आक्रोशित हो उठे और मृतक के पतिवार को 1 करोड़ रुपए की मुआवजा की मांग की है। इस दौरान बार एसोसिएशन के तरफ से परिजनों को 50 हजार रुपए की राशि दी गई। घटना के बाद से अधिवक्तों में आक्रोश है।​​​​​​​

खबरें और भी हैं...