मतदान से पहले मुर्गा-भात की पार्टी, VIDEO:अचानक टीम के साथ पहुंचे DM, इलेक्शन एजेंट को हिरासत में लिया; परिवार के साथ मुखिया प्रत्याशी फरार

गोपालगंज2 महीने पहले

मतदान से 4 दिन पहले मुखिया प्रत्याशी ने पंचायत में मुर्गा भात की पार्टी दी। मामला जिले के सदर प्रखंड की यादोपुर दुखहरण पंचायत का है। मुखिया प्रत्याशी ने अपनी पंचायत के लोगों को भोज पर बुलाया था। पंचायत के लोग खाना खा रहे थे तभी कलेक्टर डॉ. नवल किशोर चौधरी मौके पर पहुंच गए। इस दौरान अफरातफरी का महौल बन गया। पुलिस ने मौके से इलेक्शन एजेंट को अपने हिरासत में ले लिया। वहीं इसके बाद मुखिया प्रत्याशी राजकुमारी राय अपने पूरे परिवार के साथ फरार हैं।

29 नवंबर को होना है मतदान
दरअसल, गोपालगंज जिले में पंचायत चुनाव के नौवें चरण में 29 नवंबर को मतदान होना है। राजकुमारी राय के पति राजेंद्र सिंह ने मशानथाना गांव में अपने इलेक्शन एजेंट प्रदीप सिंह के घर के सामने पंचायत के लोगों के लिए भोज रखा था। इसकी जानकारी DM डॉ. नवल किशोर चौधरी को हुई। मामले की जानकारी मिलते ही DM और SP दलबल के साथ मौके पर पहुंचे।

इस तरह से चल रही थी मुर्गा-भात की दावत।
इस तरह से चल रही थी मुर्गा-भात की दावत।

साढ़े 3 क्विंटल चिकन जब्त
मौके से साढ़े तीन क्विंटल चिकन जब्त किया गया है। दावत खाने पहुंचे लोगों को चेतावनी देकर छोड़ दिया गया है। पंचायत चुनाव की मतदान से पहले मुखिया प्रत्याशी के बड़े पैमाने पर मुर्गा-भात की पार्टी किए जाने पर कलेक्टर ने कड़ी नाराजगी जताई। पुलिस की भूमिका की जांच करने के भी आदेश दिए गए हैं।

कलेक्टर और एसपी ने टीम के साथ मारा छापा।
कलेक्टर और एसपी ने टीम के साथ मारा छापा।

आदर्श आचार संघिता का उल्लंघन
भोज में सैकड़ों लोग पहुंचे थे। पुलिस को देखते ही लोग थाली छोड़कर भागने लगे। इस दौरान मुखिया प्रत्याशी के एजेंट प्रदीप सिंह को गिरफ्तार किया गया। पुलिस को इस मामले में कार्रवाई करने के आदेश दिए गए हैं। क्योंकि, पुलिस की सख्ती और निगरानी के बावजूद प्रत्याशी के खुलेआम भोज का आयोजन कराना आदर्श आचार संघिता का उल्लंघन माना जाता है।