पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

नवरात्रि:आज से नवरात्रि, सुख-समृद्धि के लिए पूर्वाह्न 11:44 बजे से अभिजीत मुहूर्त

गोपालगंज7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 58 साल बाद बना महासंयोग, चार दिन सर्वार्थसिद्धि व चार दिन रवियोग ये शुभ संयोग जमीन में निवेश, खरीद और ब्रिकी के लिए बेहद शुभ माने जाते है

शारदीय नवरात्रि यानी शक्ति की उपासना का पर्व आज से शुरू हो रहा है। पंचांग के अनुसार, आश्विन माह के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा से नवरात्र शुरू होता है जो नवमी तिथि तक चलता है। नवरात्रि में मां दुर्गा के नौ रूपों की आराधना होती है और भक्त नौ दिनों तक माता रानी का व्रत करते हैं। नवरात्रि के पहले दिन जहां शुभ मुहूर्त में कलश स्थापना करने का विधान है तो वहीं आखिरी दिन कन्या पूजन व पाठ की पूर्णाहुति करके व्रत का समापन किया जाता है। अभिजित मुहुर्त में कलश स्थापन करना ज्यादा फलदायी है।

58 साल बाद शुभ संयोग

वृंदावन आश्रम व गोपालपुर के आचार्य पं. अभिनव सिद्धांत कान्हाजी महाराज के अनुसार, शनि और गुरू ग्रह करीब 58 साल के बाद अपनी राशि में मौजूद रहेंगे। शनि ग्रह की राशि मकर और गुरू की अपनी राशि धनु है। ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक, यह शुभ संयोग कलश स्थापना के लिए बेहद शुभ है।

नवरात्रि के पहले दिन रहेगा चित्रा नक्षत्र
नवरात्रि के पहले दिन चित्रा नक्षत्र रहेगा। जबकि पूरे नवरात्रि में चार सर्वार्थसिद्धि योग, एक त्रिपुष्कर और चार रवि योग बनेंगे। इन शुभ संयोगों के अलावा आनंद, सौभाग्य और धृति योग भी बन रहा है। ये शुभ संयोग जमीन में निवेश, खरीद और ब्रिकी के लिए बेहद शुभ माने जाते हैं।

कलश स्थापना के लिए जरूरी सामग्री
लाल रंग का आसन खरीदें, कलश स्थापना के लिए मिट्टी का पात्र, जौ, मिट्टी, जल से भरा हुआ कलश, मौली, इलायची, लौंग, कपूर, रोली, साबुत सुपारी, साबुत चावल, सिक्के, आम के पांच पत्ते, नारियल, चुनरी, सिंदूर, फल-फूल, फूलों की माला और श्रृंगारदानी आदि।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपने विश्वास तथा कार्य क्षमता द्वारा स्थितियों को और अधिक बेहतर बनाने का प्रयास करेंगे। और सफलता भी हासिल होगी। किसी प्रकार का प्रॉपर्टी संबंधी अगर कोई मामला रुका हुआ है तो आज उस पर अपना ध...

और पढ़ें