पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

योजना:गांवों में खोला जाएगा ‘पढ़ना-लिखना केन्द्र’

गोपालगंजएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रघुनाथपुर में आयोजित प्रशिक्षण शिविर में मौजूद शिक्षाकर्मी। - Dainik Bhaskar
रघुनाथपुर में आयोजित प्रशिक्षण शिविर में मौजूद शिक्षाकर्मी।
  • 460 असाक्षर महिला-पुरुषों को मिलेगा शिक्षा का वरदान, 10 असाक्षरों के लिए एक केंद्र

केंद्र सरकार के सर्वशिक्षा अभियान के तहत गांव टोला तथा दूर-दराज के कस्बों में शिक्षा की रोशनी फैलाने के लिए कोरोना महामारी का असर कम होते ही काम शुरू हो जाएगा। इसको लेकर शुक्रवार को प्रखंड मुख्यालय के बीआरसी भवन में सभी टोला सेवक, तालिमी मरकज तथा शिक्षा सेवियों का प्रशिक्षण सह उन्मुखीकरण कार्यशाला आयोजित की गई। इसमें केआरपी त्रिलोकी नाथ चतुर्वेदी ने सभी को इस योजना को लागू करने तथा संचालन के संबंध में जानकारी दी। केआरपी ने बताया रघुनाथपुर में 460 असाक्षरों की पहचान विभिन्न आरक्षित कोटियों में की गई है। इस कार्यक्रम को सरकार ने “पढ़ना लिखना कार्यक्रम” नाम दिया है। इसके तहत गांव तथा टोले में प्रत्येक दस असाक्षर महिला-पुरुषों की संख्या पर एक केंद्र का संचालन करना है। केंद्र के संचालन के लिए स्कूल-कॉलेज के विद्यार्थियों, एनएसएस, स्वच्छताकर्मियों में से जागरूक तथा तेज-तर्रार होनहारों का चयन किया जाएगा। इस कार्यक्रम के संबंध में उन्होंने बताया। यह कार्य लॉकडाउन के पूर्व ही शुरू कर देना था ।लेकिन करोना महामारी के चलते सारा कार्य अधूरा का अधूरा रह गया ।जो सर्व शिक्षा अभियान के लिए बहुत बड़ा नुकसान साबित हुआ। परंतु अब अभियान के तहत कार्य करने वाले सभी अधिकारी से लेकर के नीचे स्तर तक के कर्मी एकजुट होकर इसे सफल बनाने में जुट गए हैं कार्यक्रम की मॉनिटरिंग संकुल संसाधन केंद्र के संकुल समन्वयक करेंगे। वह बीआरसी को प्रतिवेदन देंगे। इसके बाद प्रतिवेदन का समेकन कर जिला साक्षरता अभियान को प्राप्त होगा। केंद्र को व्यवस्थित ढंग से चलाने के लिए सभी चयनित केंद्र संचालकों को पहले प्रशिक्षण दिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...