पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

देखभाल:बदलते मौसम में बच्चों के खान-पान का रखें ध्यान- डॉ. चौरसिया

हसनपुरा24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

बदलते मौसम में नन्हे बच्चों की देखभाल करना चुनौती होती है। माता-पिता द्वारा बच्चों का ध्यान रखने के बावजूद वे जरा सी लापरवाही होने पर बीमार पड़ जाते हैं। इसकी वजह बार-बार तापमान में बदलाव का होना है। जिसको बच्चा झेल नहीं पाता और बीमार हो जाता है। असल में छोटे बच्चे की इम्युनिटी पॉवर कम होती है, जो उम्र के साथ-साथ बढ़ती है। मौसम के बदलाव के साथ इसका प्रभाव देखने को मिलता है जब अधिकतर बच्चे बीमार पड़ते हैं।

हसनपुरा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थापित डॉक्टर अमरनाथ चौरसिया ने कहा कि छोटे बच्चों की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होने की वजह से जल्दी कई प्रकार के वायरल और बैक्टीरियल संक्रमण के शिकार हो जाते हैं। अचानक से मौसम का बदलना, सर्दी से गर्मी, गर्मी से बारिश होने की वजह से उनके शारीरिक समस्याएं मसलन, सीजनल फ्लू, एलर्जी, कोल्ड कफ, हिट स्ट्रोक, डायरिया, मलेरिया, डेंगू आदि बीमारियां होने का खतरा रहता है। ऐसे में माता-पिता और केयर टेकर्स को कुछ सावधानियां बरतने की जरूरत है।

ताकि बच्चा इन सब समस्याओं से दूर रहें। साथ ही उन्होंने बताया कि घर में यदि किसी को खांसी, सर्दी है तो उससे बच्चों को दूर रखें। क्योंकि इससे बच्चों को संक्रमण का खतरा हो सकता है। गर्मियों के मौसम में शरीर बहुत तेजी से पसीने के रूप में तरल ( पानी ) खोता है।

जिसकी वजह से रक्त गाढ़ा होने लगता है। ऐसी स्थिति में शरीर से पानी की कमी को पूरा करने के लिए अपने बच्चों को दिन भर थोड़ी-थोड़ी देरी पर पेय पदार्थ दें। अगर आप के बच्चे स्तनपान करने की अवस्था में है, तो उन्हें थोड़े-थोड़े अंतराल पर स्तनपान कराते रहें। मां का दूध हर इंफेक्शन से शुद्ध है और पोषण के साथ-साथ भरपूर मात्रा में पानी की कमी को भी पूरा करता है।

खबरें और भी हैं...