राष्ट्रीय अति पिछड़ा वर्ग की बैठक:अधिकार के लिए अतिपिछड़ा परिवार को एकजुट हो संघर्ष करने की जरूरत

गुरारू9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • राष्ट्रीय अति पिछड़ा वर्ग की बैठक में छह प्रस्तावों पर की गई चर्चा

गुरारू बाजार के शिव पार्वती धर्मशाला में रविवार को राष्ट्रीय अति पिछड़ा वर्ग महासभा की बैठक हुई। जिला समन्वयक कौशलेंद्र कुमार सिंह ने कहा कि अति पिछड़ा परिवार को अपने हक अधिकार के लिए एकजुट होकर संघर्ष करने की जरूरत है। कहा कि वर्तमान समय में इसके अलावे कोई रास्ता नहीं है।

सभी राजनीतिक दल अति पिछड़ा वर्ग का वोट पर अपनी राजनीति चमकाते हैं, लेकिन भागीदारी की बात आती है तो पीछे हट जाते हैं। वहीं जिला सहसंयोजक पप्पू चंद्रवंशी ने सरकार से जातिगत जनगणना कराने की मांग की, ताकि लोगों को अपने आबादी का सही पता चल सके।

प्रो. राधेश्याम प्रसाद ने कहा कि बिहार की तर्ज पर केंद्र में भी आरक्षण के दायरे को बढ़ाकर कर्पूरी फॉर्मूले को अमल में लाया जाए। इस दौरान छह प्रस्ताव पारित किए गए। बैठक की अध्यक्षता मनोज कुमार व संचालन संतोष चंद्रवंशी ने की।

मौके पर मुख्य रूप से रामविलास सिंह, मिथलेश चंद्रवंशी, अरविंद कुमार, उदय प्रसाद, उपेन्द्रनाथ वर्मा, अक्षय चंद्रवंशी, रमाकांत सुधांशु, चंदेश्वर प्रसाद गुप्ता, रंधीर शर्मा, ब्रह्मानंद शर्मा, सुदामा ठाकुर, गंगा प्रसाद व नरेश चंद्रवंशी शामिल हुए।

खबरें और भी हैं...