गांव की सरकार:34 पंचायतों के 3265 प्रत्याशियों की किस्मत ईवीएम व मतपेटियों में हुई कैद

गुरारू2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बूथ पर मतदान करने पहुंची महिलाओं की लंबी कतार। - Dainik Bhaskar
बूथ पर मतदान करने पहुंची महिलाओं की लंबी कतार।
  • जिउतिया व्रत में भी महिलाओं में दिखा उत्साह, पुरुष मतदाताओं ने पहले महिलाओं को वोट करने का दिया मौका, बूथों पर दिखी लंबी लाइन
  • कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच टिकारी में 66 फीसदी तो गुरारू प्रखंड में 66.62 फीसदी हुआ मतदान
  • छिटपुट घटनाओं के बीच दूसरे चरण का चुनाव संपन्न, बूथों पर सुविधाओं की दिखी घोर कमी, कड़ी धूप में घंटों खड़े रहे मतदाता

पंचायत चुनाव के दूसरे चरण में जिले के दो प्रखंड टिकारी और गुरारू के बूथों पर सुविधाओं की घोर कमी दिखी। कड़ी धूप में भी गांव की सरकार बनाने के लिए घंटों मतदाता खड़े रहे। हालांकि बूथों पर पुरुष और महिलाओं की भीड़ उमड़ रही थी। उस भीड़ में महिलाओं की संख्या अधिक दिखी।

लेकिन जिउतिया व्रत के कारण पुरुष मतदाताओं ने महिला मतदाताओं को पहले मतदान करने का मौका दिया। ताकि कड़े घुप में महिलाओं को खड़ा नहीं होना पड़े। वहीं बुधवार को दूसरे चरण के चुनाव में जिले के दो प्रखंडों के 34 पंचायतों के 3265 प्रत्याशियों का किस्मत ईवीएम और मतपेटियों में बंद हो गया।

चुनाव खत्म होने के बाद टिकारी प्रखंड में 66 फीसदी तो गुरारू प्रखंड में 66.62 फीसदी वोटिंग हुई। प्राप्त जानकारी के अनुसार टिकारी प्रखण्ड में छिटपुट घटनाओं को छोड़कर सभी जगह पर शांतिपूर्ण सम्पन्न हुआ। प्रखण्ड के 22 ग्राम पंचायतों में विभिन्न पदों के लिए हो रहे चुनाव को लेकर प्रशासनिक स्तर से माकूल इंतजाम किए गए थे। निर्धारित अवधि पूरी हो जाने के उपरांत समाप्त की गई। चुनाव प्रक्रिया के बाद ईवीएम व बैलेट बॉक्स को सेक्टर मजिस्ट्रेट के साथ गया स्थित व्रज गृह में सुरक्षा बलों की निगरानी में भेजा गया।

पुरुष मतदाताओं से फिर आगे रहीं महिला मतदाता
बुधवार को हुए चुनाव में प्रखण्ड के तीन जिला परिषद क्षेत्र, 22 ग्राम पंचायत मुखिया व सरपंच, 31 पंचायत समिति सदस्य व 281 वार्ड सदस्य व वार्ड पंच के चुनाव के लिए मतदान की प्रक्रिया सम्पन्न कराई गई। प्रखण्ड में कुल 66 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मत का प्रयोग किया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार 69 प्रतिशत महिला मतदाता तो 61.7 प्रतिशत पुरुष मतदाता ने अपने मतों का प्रयोग किया। टिकारी प्रखण्ड से कुल 1956 अभ्यर्थी मैदान में थे, जिनमें से 110 अभ्यर्थी का निर्विरोध चुना जाना तय है। निर्विरोध चुने जाने की आधिकारिक घोषणा मतगणना उपरान्त की जाएगी।

महिलाओं में भी खूब दिखा उत्साह
पुत्र के दीर्घायु जीवन की कामना के लिए रखे जाने वाले जिउतिया पर्व के बावजूद भी लोकतंत्र के इस महापर्व में महिलाओं का खूब उत्साह दिखा। पुरुषों की अपेक्षा महिलाएं ही मत डालने में आगे रही। महिलाएं सुबह- सुबह ही मतदान केन्द्र पर पहुंची और मत का प्रयोग की।

वहीं कई बूथों पर ईवीएम में खराबी आ जाने के कारण विलंब से मतदान शुरू होने की भी जानकारी मिली। हालांकि टेक्निकल टीम की सक्रियता से ईवीएम को तुरंत दुरुस्त कर लिया गया। वहीं चुनाव को लेकर पुलिस-प्रशासन भी पूरी तरह से मुस्तैद दिखा। बूथों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतेजाम थे।

कोविड नियमों का पालन नहीं, बवाल के बाद देर शाम तक होती रही वोटिंग
वहीं गुरारू प्रखंड में पंचायत चुनाव के दूसरे चरण का मतदान में लोगों ने जमकर हिस्सा लिया। प्रखंड के 12 पंचायतों में इस दौरान 66. 62 प्रतिशत से अधिक मत पड़े। इस दौरान न ही किसी बूथ पर कोविड गाइड लाइन का पालन होते हुए दिखा। बवाल की घटना के बाद बूथ संख्या 25 भीमपुर में देर शाम तक वोटिंग होती रही।

कई बूथों पर स्लो वोटिंग से लोग परेशान दिखे। बूथ संख्या 88 मथुरापुर में वोटिंग के लिए लाइन में प्रतीक्षा कर रही पिंकी देवी ने कहा कि एक तो जितिया पर्व है, भूखे - प्यासे हैं। ऊपर से वोट देने के लिए घंटों लाइन में लगना पड़ रहा है। बूथ संख्या 119 सरेवा में भी मतदाताओं ने स्लो वोटिंग की शिकायत की।

बूथ संख्या 70 कोंची पर भी मतदाताओं की अच्छी-खासी भीड़ देखी गई। डीहा के बूथ संख्या 121, 122, 123 व 124 पर भी काफी संख्या में मतदाता वोट देने पहुंचे। मतदान केंद्र के बाहर यहां दो प्रत्याशियों के समर्थकों के बीच मारपीट की भी खबर है।

मतदान केंद्र पर हुई झड़प के बाद जायजा लेते डीएम व एसएसपी।
मतदान केंद्र पर हुई झड़प के बाद जायजा लेते डीएम व एसएसपी।
खबरें और भी हैं...