पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

वैकल्पिक सड़क के खराब होने से ग्रामीणों को परेशानी:दो वर्ष पहले बनी भरौंधा-नौडीहा सड़क हुई जर्जर, गुणवत्ता पर उठ रहे सवाल

गुरुआ9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
दो जिलों को जोड़ने वाली सड़क हुई जर्जर। - Dainik Bhaskar
दो जिलों को जोड़ने वाली सड़क हुई जर्जर।
  • गया-औरंगाबाद को जोड़ने वाली सड़क के जर्जर होने से बढ़ी परेशानी

दो जिलों को जोड़ने वाली वैकल्पिक सड़क के खराब होने से ग्रामीणों को परेशानी होने लगी है। दो साल में सड़क के खराब होने से उसकी गुणवत्ता पर प्रश्न उठना स्वाभाविक है। गया-औरंगाबाद को जोड़ने वाली सड़क भरौंधा-नौडीहा मार्ग चार दशक के बाद दो वर्ष पहले औरंगाबाद संसदीय क्षेत्र के सांसद सुशील कुमार सिंह एवं तत्कालीन विधायक राजीव नंदन दांगी के प्रयास से उस सड़क का निर्माण पथ निर्माण विभाग द्वारा किया गया था।

भरौंधा-नौडीहा सड़क को दो पार्ट में गुरुआ से औरंगाबाद जिले के रफीगंज तक 28 किलोमीटर लंबी सड़क निर्माण होने से इस क्षेत्र के लोगों को रफीगंज के साथ दाउदनगर अनुमंडल के विभिन्न क्षेत्र में जाना काफी आसान हो गया था। लेकिन दो वर्ष बीतने के बाद यह सड़क कई जगहों पर जर्जर होकर काफी जानलेवा बन गई है।

यदि थोड़ी बारिश हो गई, तो कुछ देर के लिए भरौंधा-नौडीहा सड़क पर आवागमन में काफी परेशानी हो जाती है। सड़क निर्माण के दो वर्ष बाद पक्की सड़क के जर्जर हो जाने से उस क्षेत्र के ग्रामीण सड़क निर्माण की गुणवत्ता पर सवाल उठा रहे हैं।

निवर्तमान जिला पार्षद सुनील कुमार दास, नगवां पंचायत के पैक्स अध्यक्ष राणा संतोष कुमार सिंह और नदौरा पंचायत के निवर्तमान मुखिया संजय कुमार दास ने जिला प्रशासन से सड़क निर्माण कार्य की गुणवत्ता की जांच कर सड़क को मरम्मत करवाने की मांग की है।

खबरें और भी हैं...