उलझी पुलिस / गुरूआ: छात्र को छोड़ शादी में गए थे घरवाले, लौटे तो बांस में लटकी मिली लाश

Guru: The family members left the student and went to the wedding, returned and found the dead body hanging in bamboo
X
Guru: The family members left the student and went to the wedding, returned and found the dead body hanging in bamboo

  • परिजनों का आरोप-हत्या कर आत्महत्या दिखाने का किया गया प्रयास

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

गुरुआ. गुरुआ थाना के दुब्बा पंचायत के परसावां खुर्द गांव के 10 वर्षीय बालक की संदिग्ध मौत का मामला सामने आया है। परिजनों का आरोप है, कि अपराधियों ने हत्या कर शव को बांस से लटकाकर इसे आत्महत्या दिखाने का प्रयास किया, ताकि पुलिस की जांच को भटकाया जा सके। बताया जा रहा कि परसावां खुर्द गांव के तपेश्वर यादव का छोटा पुत्र विक्की कुमार घर में पिछले दो दिनों से अकेला रह रहा था। परिवार के लोग उसे यहां छोड़कर कोलौना पंचायत के बेला गांव में एक शादी समारोह में शामिल होने को गए थे। इसी बीच उसका शव बांस से लटकता मिला। गले में चादर बंधा था। पड़ोसियों ने शव लटका देखा तो इसकी सूचना परिवार के लोगों को दी। 
परिवार ने हत्या का लगाया आरोप: परिजनों ने कहा है, कि यह हत्या का मामला है। बताया कि वह मध्य विद्यालय तमरूआ में पांचवीं कक्षा का छात्र था। परिजनों ने बताया कि गले पर किसी प्रकार का कोई निशान नहीं था। उसकी हत्या की घटना को साजिश के तहत अंजाम दिया गया है। इसके बाद साक्ष्य छुपाने के मकसद से शव को लटका दिया गया। 

पुलिस बोली-स्पष्ट नहीं, कि घटना हत्या है आत्महत्या
दस वर्षीय बालक का शव देखने से स्पष्ट नहीं हो रहा, कि यह घटना हत्या है या आत्महत्या। पुलिस वैज्ञानिक तरीके से मामले का अनुसंधान कर रही है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद पूरे मामले का खुलासा हो जाएगा। पुलिस मामले को लेकर जांच पड़ताल कर रही है। -दिवाकर कुमार, थानाध्यक्ष, गुरुआ

फतेहपुर में गड्ढे से शव बरामद, पुत्र की पिटाई से हुई थी पिता की मौत
फतेहपुर की पुलिस ने मंगलवार को श्रीरामपुर गांव स्थित पइन में गाड़े गए 45 वर्षीय सकेन्द्र यादव का शव बरामद किया है। पिछले बुधवार को घरेलू झगड़ा में पुत्र व अन्य परिजनों के पिटाई से पिता की मौत हो गई थी। इसके बाद परिजनों ने गुप्त रूप से गांव स्थित पइन में गड्ढा खोद शव दफन कर दिया था। दुर्गंध फैलने के बाद घटना का खुलासा हुआ। थानाध्यक्ष अबुजर हुसैन अंसारी ने बताया कि 23 जून को सकेन्द्र यादव और उसके पुत्रों के साथ किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया था। इसमें पुत्र व अन्य परिजनों ने मिलकर उसके साथ मारपीट की। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना