पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बाढ़ का खतरा:सरयू नदी के कटाव से गुठनी के तीर बलुआ गांव के ग्रामीणों में दहशत, सोना भी मुश्किल

गुठनी2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

गुठनी के तीर बलुआ गांव बढ़ते सरयू के जलस्तर से घिर जाने के बाद आपदा विभाग के प्रधान सचिव के निर्देश पर गुठनी सीओ शम्भु नाथ राम के नेतृत्व में एक टीम गठित कर सोमवार को गुठनी के तीरबलुआ गांव का दौरा किया। इस दौरान बाढ़ से हुए नुकसान, पानी में गिरे हुए घर, पानी में गिरे हुए फसल का आकलन, पूरे गांव की मापी, लोगों से पूछताछ, लोगों की परिवारिक स्थिति, बाढ़ की स्थिति, आने जाने वाले मुख्य सड़क का निरीक्षण टीम ने किया। इस टीम में सीओ शंभू नाथ राम, सीआई कृष्ण कुमार गुप्ता, कर्मचारी गिरीश तिवारी, अमीन राजन कुमार, अंचल कर्मी रजनीश कुमार, नाजिर राजीव कुमार मौजूद थे। अधिकारियों ने पीड़ित ग्रामीणों से इस संबंध में गहनता से पूछताछ किया। और अपनी रिपोर्ट डीएम अमित कुमार पांडे को सौंप दिया। ग्रामीणों ने सोमवार को जांच टीम के समक्ष बताया कि हर साल उनके मकानों, फसलों, जमीन और संपत्ति को भारी नुकसान होता है। लेकिन अधिकारियों द्वारा जांच कर आश्वाशन के वावजूद कोई ठोस कार्यवायी नही किया जाता है जिसके प्रत्येक वर्ष हम सभी लाखों का नुकसान होता है। प्रधान सचिव के आदेश के बाद जांच करने आये अधिकारियों से ग्रामीण रुदल साहनी, सुदामा साहनी, जितेंद्र साहनी, राघवेंद्र साहनी, बिल्गु साहनी, अलगू साहनी, बाबू चंद्र साहनी, राजमंगल साहनी, सालिक साहनी, जवाहिर साहनी, श्रीकांत साहनी, सुभाष साहनी, मुन्नी लाल साहनी, शिवशंकर साहनी, रामचन्द्र साहनी, मनराज साहनी आदि ने घरों पर पानी के कटाव को दिखाते हुये कहा कि यह घर कभी भी कटाव से नदी में गिर सकते हैं। ग्रामीणों ने जांच टीम से त्वरित कार्रवाई कर गांव को बचाने की गुहार लगाई।

खबरें और भी हैं...