पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

किसानों को राहत:मौसम के तेवर बदलने से फसलों को होगा फायदा

हरनौत2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • गर्मी और तेज धूप की वजह से ही खेत में पानी रहते हुए भी धान की फसल झुलसने लगी थी

हाल के दिनों में चिलचिलाती धूप से तापमान में तेजी से वृद्धि हुई। आम लोग भी भीषण गर्मी से काफी परेशान थे। जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया था। मौसम के इस तीखे तेवर ने किसानों की भी चिंता बढ़ा दी थी। गर्मी और तेज धूप की वजह से ही खेत में पानी रहते हुए भी धान की फसल झुलसने लगी थी। साथ ही जिले के कुछ इलाकों में पौधे की पत्तियों पर कीट-व्याधि आदि का प्रकोप भी नजर आने लगा था। किसान भी कीट व्याधि की समस्या से किसान काफी परेशान दिख रहे थे।इन्हें अपनी फसल बर्बाद होती दिख रही थी। सोमवार से मौसम में बदलाव हुआ। रुक-रुककर हो रही बारिश से किसानों ने राहत की सांस ली है। इन्हें अब फसल सुरक्षित रहने की आस दिखी है। किसान विन्देश्वर दास, त्रिवेणी कुमार, रामजी सिंह, बालेश्वर यादव ने बताया कि धान और पान के पौधे एक समान होते हैं। उन्हें नित स्नान की जरुरत होती है। नित स्नान का मतलब निरंतर अचानक हल्की-फुल्की बारिश से पौधे भींगते रहे। इससे मौसम भी अपेक्षाकृत ठंडा रहता है, जो कि फसल की अच्छी बढ़वार और पैदावार के लिए लाभदायक है।

तापमान बढ़ने पर कीट- व्याधि का खतरा
कृषि विज्ञान केंद्र के प्रभारी डा. ब्रजेंदु कुमार ने बताया कि हवा में नमी की मात्रा अधिक हो और तापमान भी बढ़ रहा हो तो यह कीट-व्याधि बढ़ने के अनुकूल होता है। इस मौसम में खेत में पानी रहने से गलकी रोग भी बढ़ जाता है। इसके लिए खेत से जल निकास की भी व्यवस्था होनी चाहिए। मौसम में हुए बदलाव का फसल पर बेहतर असर पड़ेगा

खबरें और भी हैं...