पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

हंगामा:10 दिन में एकनार में 7 बार आगजनी में 20 लाख की फसल बर्बाद, किसानों ने किया हाईवे जाम

हिसुआ15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • हिसुआ के एकनार गांव की घटना, कार्रवाई नहीं होने के बाद पुलिस के खिलाफ फूटा किसानों का गुस्सा

10 दिन के भीतर एक ही गांव में 7 बार भीषण आगजनी होने के बाद भी पुलिस और प्रशासन ने कार्रवाई नहीं की तो प्रशासन के खिलाफ किसानों का गुस्सा फूट पड़ा। एकनार और आसपास के ग्रामीणों ने सकरा मोड़ के पास नवादा-हिसुआ स्टेट हाईवे को कई घंटों तक जाम कर दिया और जोरदार प्रदर्शन किया। अंत में स्थानीय विधायक नीतू सिंह द्वारा कार्रवाई और मुआवजे का आश्वासन दिए जाने के बाद जाम टूटा। बताया जाता है कि एकनार गांव में पिछले 10 दिनों से लगातार एक के बाद एक आगजनी की घटनाएं हो रही है। अबतक 7 बार आग लग चुकी है और इसमें किसान और बटाईदार समेत आठ लोगों की 20 लाख से अधिक की संपत्ति जल चुकी है।

ग्रामीणों ने इसकी सूचना स्थानीय पुलिस और अंचल कार्यालय को दे दिया लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। ना तो आग लगी की घटना को अंजाम देने वाले अपराधी पकड़े जा सके और ना ही किसानों को मुआवजा देने के लिए कोई प्रयास हुआ। मंगलवार को एक बार फिर अपराधियों ने एक किसान ललन सिंह के धान की फसल को आग लगा दिया इसमें करीब 7 बीघा में उपजी धान की फसल जलकर राख हो गई। इसके बाद तो बुधवार को ग्रामीणों का गुस्सा फूट पड़ा। ग्रामीणों ने नवादा हिसुआ स्टेट हाईवे को शकरा मोड़ के पास जाम कर दिया और प्रशासन के खिलाफ जबरदस्त नारेबाजी की।

विधायक नीतू सिंह के कार्रवाई और मुआवजा दिलाने के आश्वासन पर टूटा जाम

पुलिस व प्रशासन के खिलाफ दिखी नाराजगी
जाम की सूचना पर सीओ नीतेश कुमार, प्रभारी एसएचओ सुभाष कुमार, एसआई मो. अब्बास पुलिस दलबल के साथ सकरा मोड़ पहुंचे और जाम खुलवाने का प्रयास किया। लेकिन आक्रोशित ग्रामीण टस से मस नहीं हुए और मुआवजे तथा दोषियों पर कार्रवाई की मांग को लेकर अड़े रहे। इस दौरान पुलिस और अंचल प्रशासन के खिलाफ ग्रामीणों ने नाराजगी दिखाते हुए कहा कि सूचना देने के बाद जहां पुलिस ने सिर्फ खानापूर्ति करके छोड़ दिया वही अंचलाधिकारी ने मुआवजे को लेकर कोई ठोस कार्रवाई नहीं की।

क्या है मामला

बीते 4 नवबंर को भी कुछ अज्ञात शरारती तत्वों ने जयनंदन सिंह के खलीहान में भी आग लगा दिया गया था जिसमे जयनंदन सिंह व बटायादार बिहारी मांझी के हजारों रुपये के घान व नेवारी जलकर खाक हो गया था। इसके अलावा जैन सिंह का 8000, हरि मांझी का 6000, वीरेंद्र सिंह का 5000, इंदल मांझी का 2000 जितेंद्र सिंह का 3000 नेवारी जलकर राख हुआ है। इन घटनाओं के बारे में पुलिस को जानकारी दी गई लेकिन घटनाओं के पीछे कौन है इसका पता लगाने के लिए कोई कार्रवाई नहीं की गई।

उपजाने में चली गई जान फिर भी नहीं बची धान

किसानों ने बताया कि धान को बुझाने में काफी फजीहत झेलनी पड़ी है यहां तक एक व्यक्ति की जान चली गई है। धान को उपजाने के दौरान 5 लोगों को सांप ने डसा था। इसमें से एक युवक की मौत भी हो चुकी थी। इतना सब होने के बावजूद धान की फसल नहीं बच सकी। जिससें उन्हें खाने के लाले पड़ जाएंगे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आपका कोई भी काम प्लानिंग से करना तथा सकारात्मक सोच आपको नई दिशा प्रदान करेंगे। आध्यात्मिक कार्यों के प्रति भी आपका रुझान रहेगा। युवा वर्ग अपने भविष्य को लेकर गंभीर रहेंगे। दूसरों की अपेक्षा अ...

और पढ़ें