पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नाला नहीं हिसुआ शहर की प्रमुख सड़क है जनाब!:लाखों रुपए खर्च होने के बाद भी पानी निकास का इंतजाम नहीं, बारिश की वजह से हो रही परेशानी

हिसुआ22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

या तस्वीर किसे नाले, पैन या तालाब की नहीं बल्कि हिसुआ शहर के प्रमुख सड़क की है। यह सड़क हिसुआ शहर के प्रोफेसर कॉलोनी में है । जी हां ईश्वर शहर के सबसे वीआईपी एरिया माने जाने वाले प्रोफेसर कॉलोनी में सड़क पर बरसात का पानी जमा है। इस बार में पीससी सडक से लेकर नाली तक कई मदों से काम हुआ लेकिन पानी के निकास का समाधान नहीं हो पाया। आलम यह है कि बीते चार दिनों से हुऐ बारिश ने कॉलोनी में हुए कार्यो कि पोल खोल दी है। लोग इसे अब सोशल मीडिया पर डालकर यहां कि कहानी को उजागर कर रहें है।

बताया जाता है कि अनियोजित तरीके से छोटे-छोटे नाले व गुणवत्ता विहीन कार्य के कारण हालात यह हो गई है कि शहर के हृदयस्थली प्रोफेसर कॉलोनी की सड़क और गलियों में बरसात के पानी से तालाब के दृश्य में परिवर्तित हो गया है। वहीं कॉलोनी में बसे लोगों के घरों के गंदे पानी के बेहतर तरीके से निकासी नहीं होने से उक्त जलजमाव से बदबू आने लगा है। बिन मौसम बारिश होने से पूरे कॉलोनी में जलजमाव की स्थिति विकट हो गई है। मुहल्ले की सड़कों और गलियों में नाले का कचरा और गंदा पानी जमने से कॉलोनी के लोग मच्छरजनित बीमारी से भयभीत हैं।

इसी वार्ड की पार्षद हैं मुख्य पार्षद
बतादे कि उक्त कॉलोनी का हाल तब है जब मुख्य पार्षद कुंती देवी स्वयं इस वार्ड के पार्षद है। बताया जाता है कि इस वार्ड में नाली का निर्माण तो किया गया लेकिन सुनियोजित तरीके से एकबार में काम नहीं होने से नाला उपर नीचे हो गया। जिससे जल निकासी समस्या बनी रहती है। वहीं रही सही कसर ठेकेदारों की मनमानी गुणवत्ता विहीन कार्य ने उत्पन्न कर दी। गुणवत्ता विहीन नाला निर्माण होने से जहां तहां नाला का ढक्कन टुट कर भर गया जिससे भी जल निकासी नहीं हो पाती।

खबरें और भी हैं...