पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कन्वेंशन:पंचायत को बेहतर बनाने वाले प्रत्याशियों के पक्ष में माले के कार्यकर्ता करेंगे वोट, किसानों को भी देनी होगी तरजीह

हुसैनगंज15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कन्वेंशन में मौजूद माले नेता और कार्यकर्ता। - Dainik Bhaskar
कन्वेंशन में मौजूद माले नेता और कार्यकर्ता।
  • हुसैनगंज के सारेयां गांव में जुटे नेता और कार्यकर्ता, त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर हुई बात

प्रखंड के खरसंडा पंचायत के सारेयां गांव स्थित पंचायत भवन में रविवार को माले पार्टी का त्रिस्तरीय पंचायत में कार्यकर्ता कन्वेंशन का आयोजन किया गया। जिसमें सैकड़ों लोग शामिल हुए। यह कन्वेंशन प्रखंड कमेटी सदस्य जय नाथ यादव की अध्यक्षता में किया गया। यह कन्वेंशन भाकपा माले के पूर्व विधायक अमरनाथ यादव व प्रखंड सचिव जय नाथ यादव के उपस्थिति में किया गया। कन्वेंशन को सम्बोधित भाकपा माले पूर्व विधायक का.अमरनाथ यादव व माले प्रखण्ड सचिव जयनाथ यादव नेता द्वय ने कहा कि आज पूरे देश मे किसान-मजदूर विरोधी सरकार चल रही है। लगभग 10 महीने से किसान धरने पर बैठे हैं लेकिन सरकार इनकी एक नही सुन रही है।देश के तमाम किसान संगठन 27 सितम्बर 2021 को भारत बंद का ऐलान किये है हमारी पार्टी इसका समर्थन करती है। पूरे जन समर्थन के साथ बंद को सफल बनाने के लिए सभी कार्यकर्ता से अपील किया गया है।पंचायत चुनाव में हमारी भागीदारी का उद्देश्य यह है कि पंचायत में जनता के हक-अधिकारों का संघर्ष का केन्द्र बनाना।ग्रामीण शासक वर्ग के खिलाफ जनता की दावेदारी व वर्चव को मजबूत करना है,ताकि पंचायतो में भ्रष्ट ठेकेदार ,नौकरशाही के वर्चव का विरोध पूर्णरूप से पंचायतो में जनता की निगरानी व नियंत्रण स्थापित किया जाय,बल्के किसान आंदोलन को मजबूत बनाते हुए केंद्र व राज्य सरकार की जनविरोधी नीतियों का विरोध बड़े स्तर पर किया जा सके,इस लिए भाकपा माले पार्टी सदियों से मांग करती आ रही है, कि दलीय आधार पर चुनाव हो। हालांकि पंचायत चुनाव का बिगुल बज चुका है।चुनाव को लेकर कई तरह के प्रतिनिधि आपके बीच मे पहुंचेंगे।कोई जाति धर्म के नाम आपके बीच में पहुच ए प्रकार के ठगने का काम करेंगे अनेकों प्रकार के बात करेंगे उनके झांसे में ना आते हुए माले पार्टी के कार्यकर्ताओं और पार्टी के उम्मीदवारों को बड़े स्तर पर विजई बनाना है ताकि अपनी पार्टी मजबूत हो और आगे हमें इसका सहयोग मिल सके।5 वर्ष बाद पंचायत चुनाव होते हैं जिसमें एक अच्छे प्रतिनिधि का चुनाव करें आपकी बीच में आपकी मदद करें,ताकि विपरीत परिस्थितियों में उनका सहयोग मिले।

खबरें और भी हैं...