पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

कोरोना से जंग:प्रखंड कार्यालयों में बाहर से आने वाले प्रवासी मजूदरों के रजिस्ट्रेशन का काम किया गया शुरू

जगदीशपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • दिल्ली एनसीआर, पुणे, मुंबई, सूरत, अहमदाबाद, कोलकाता व बेंगलुरू से आने वाले प्रवासी मजदूरों को अलग से किया जाएगा क्वारेंटाइन

लॉकडाउन 4.0 में प्रवासी मजदूरों के लगातार आने के सिलसिले के बीच प्रशासनिक व्यवस्था में भी फेरबदल होने से आपाधापी वाली स्थिति उत्पन्न हो गई है। जगदीशपुर प्रखंड कार्यालय में काउंटर खोलकर प्रवासी मजदूरों के रजिस्ट्रेशन का कार्य शुरू किया गया है। जिसमें देश के सात चिन्हित शहरों क्रमशः दिल्ली एनसीआर, पुणे, मुंबई, सूरत, अहमदाबाद, कोलकाता, बेंगलुरु से आने वाले प्रवासी मजदूरों को क्वारेंटाइन किए जाने की अलग प्रशासनिक तैयारी शुरू की जा चुकी है।

वहीं, पंचायतों में बने क्वारेंटाइन सेंटरों से 14 दिनों की क्वारेंटाइन अवधि पूर्ण कर लेने के बाद आवासित प्रवासियों की जांच के उपरांत धीरे धीरे होम क्वारेंटाइन किया जाने लगा है। मामले में अंचलाधिकारी जयराम प्रसाद सिंह ने बताया कि पूरे प्रखंड क्षेत्र में पूर्व से संचालित हो रहे क्वारेंटाइन केंद्रों में अब नए लोगों की एंट्री नहीं की जाएगी। सिर्फ सात चिन्हित शहरों से आने वाले प्रवासी लोगों को ही प्रखंड स्तर पर बनाये गए क्वारेंटाइन केंद्रों में आवासित किया जाएगा। बाकी अन्य स्थानों से आने वाले प्रवासी मजदूरों को जांच के उपरांत होम क्वारेंटाइन में रखा जाएगा।

प्रखंड क्षेत्र के विभिन्न क्वारेंटाइन केंद्रों में आवासित लोगों को 14 दिनों की अवधि पूरा कर लेने की स्थिति में धीरे धीरे सभी को रिलीज किया जा रहा है। जिसके बाद सभी होम क्वारेंटाइन में ही रहेंगे। प्रखंड के कुल छह क्वारेंटाइन केंद्रों में सवारथ साहू प्लस टू विद्यालय,डीके कारमेल स्कूल, संत श्री बराहना महिला महाविद्यालय समेत अन्य केंद्रों में बारी बारी से प्रवासियों को शिफ्ट किया जाएगा।

एक केंद्र में उचित संख्या में शिफ्ट किये जाने के बाद दूसरे केंद्र में प्रवासियों को एडजस्ट किया जाएगा। आगे अंचलाधिकारी ने बताया कि चिन्हित क्वारेंटाइन केंद्रों की साफ सफाई, सेनेटाइज्ड करने समेत अन्य समुचित व्यवस्था की जा रही है। जहां चिन्हित सात शहरों से आये प्रवासी मजदूरों को क्वारेंटाइन किया जाएगा।
क्वारेंटाइन होम में प्रवासियों के रहने का सिस्टम बदला
स्थानीय प्रखंड में आने वाले प्रवासी मजदूरों का रजिस्ट्रेशन नई प्रणाली से शुरू किया गया है। रजिस्ट्रेशन कराने वाले प्रवासी मजदूरों को उनके आने वाले शहर के हिसाब से क्वारेंटाइन की व्यवस्था की जा रही है। सीओ अशोक कुमार चौधरी ने बताया कि रेड जोन वाले शहर दिल्ली, गाजियाबाद, फरीदाबाद, मुंबई, अहमदाबाद, सूरत, पुणे, गुरुग्राम, नोएडा, कोलकाता और बेंगलुरु से आने वाले प्रवासियों को प्रखंड द्वारा संचालित क्वारेंटाइन सेंटर में भेजा जा रहा है। जबकि बाकी जगहों से आने वाले लोगों को होम क्वारेंटाइन में भेजा जा रहा है।

शनिवार को हुए रजिस्ट्रेशन में 24 लोगों को रेड जोन से आने के कारण क्वारेंटाइन सेंटर भेजा गया।बाकी के लोगों को उचित दिशा निर्देश देने के बाद होम क्वारेंटाइन के लिए छोड़ दिया गया। बताते चलें कि इसके पूर्व की नीति के अनुसार प्रत्येक प्रवासी को 14 दिनों के लिए क्वारेंटाइन सेंटर में रखा जाता था। जिसके बाद उन्हें घर पर 7 दिन क्वारेंटाइन रहने की सलाह दी जाती थी। प्रवासी मजदूरों की बढ़ती संख्या से परेशान प्रशासन के द्वारा नई नियमावली के तहत ग्रीन जोन वाले इलाके से आने वाले प्रवासियों को होम क्वारेंटाइन व रेड जोन से आने वाले प्रवासियों को कैंप क्वारेंटाइन किया जा रहा है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- अध्यात्म और धर्म-कर्म के प्रति रुचि आपके व्यवहार को और अधिक पॉजिटिव बनाएगी। आपको मीडिया या मार्केटिंग संबंधी कई महत्वपूर्ण जानकारी मिल सकती है, इसलिए किसी भी फोन कॉल को आज नजरअंदाज ना करें। ...

और पढ़ें