पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सख्ती:सभी अवैध नर्सिंग होम पर की जाएगी कार्रवाई

जहानाबादएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शहर की सड़कों पर निकले जिलाधिकारी। - Dainik Bhaskar
शहर की सड़कों पर निकले जिलाधिकारी।
  • सीएस ने कनौदी में मनमानी करते पकड़े गए संचालक से चौबीस घंटे के अंदर मांगे जरूरी कागजात

संकटकाल में मरीजों की मजबूरी का लाभ उठाने वाले निजी नर्सिंग होम संचालकों पर स्वास्थ्य विभाग सख्त रूख अपनाने की तैयारी में है। दरअसल जिलाधिकारी नवीन कुमार ने सिविल सर्जन को जिले में अवैध रूप से संचालित सभी निजी नर्सिंग होम के संचालकों पर कार्रवाई का निर्देश दिया है। उनके आदेश के बाद अब शहर में अवैध रूप से संचालित सभी नर्सिंग होम के जांच कर कड़ी कार्रवाई होगी। इस दिशा में स्वास्थ्य महकमे ने कवायद शुरू कर दी गई है।

ॉसीएस डा. अशोक कुमार चौधरी ने बताया कि पटना-गया रोड पर स्टेशन एरिया के कनौदी में संचालित इमरजेंसी हॉस्पिटल के संचालक को शुक्रवार को नोटिस जारी कर जवाब तलब किया गया है। उसे 24 घंटे में नर्सिंग होम संचालन के मानक के आवश्यक कागजात मांगे गए हैं। कागजात प्रस्तुत नहीं करने पर प्राथमिकी दर्ज की जाएगी। गौरतलब हो कि कनौदी में संचालित इमरजेंसी हॉस्पिटल में मरीज को रखकर जबरन पैसा वसूली की शिकायत गुरुवार को धुरिया निवासी मुकेश कुमार ने डीएम से की थी जिसके बाद डीएम ने जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का जांच दल का गठन कर जांच का निर्देश दिया था।

अधिकारियों ने जांच में शिकायतों काे पाया था पुष्ट

जांच में पहुंचे एसडीएम निखिल धनराज निपिनकर एसडीपीओ अशोक कुमार पांडे, सीएस अशोक कुमार चौधरी समेत अन्य अधिकारियों के दल ने वहां पहुंचकर इमरजेंसी हॉस्पिटल नामक निजी नर्सिंग होम की जांच की। इस दौरान अधिकारियों के दल ने सर्वप्रथम वहां भर्ती मुकेश कुमार के भतीजा को छुटकारा दिलवाया। बताते चलें कि मुकेश कुमार ने उक्त नर्सिंग होम संचालक पर इलाज मे 10000 जमा करने के बावजूद भतीजा को रिलीव करने के लिए चौदह हजार रुपए और डिमांड करने की शिकायत डीएम से की थी।

मांग पूरा नहीं करने पर बच्चे को बंधक बनाए जाने की भी शिकायत की गई थी। सूचना के बाद जांच दल के पहुंचने की भनक पाकर नर्सिंग होम संचालक फरार हो गया है। परिणाम स्वरूप नर्सिंग होम संचालन का कोई कागजात अधिकारियों को नहीं मिल सका। अधिकारियों ने बताया कि वहां कई अन्य मरीज भर्ती थे, जिसके वजह से नर्सिंग होम को सील नहीं किया गया है। संचालक को नोटिस जारी कर आवश्यक कागजात की मांग किया गया है। 24 घंटा मे कागजात प्रस्तुत नहीं करने पर कड़ी कार्रवाई होगी। सीएस ने बताया कि नर्सिंग होम संचालन के लिए विशेषज्ञ डॉक्टर के साथ समुचित भवन, हाइजेनिक सफाई व्यवस्था, प्रदूषण, अग्निशमन समेत अन्य व्यवस्था होनी चाहिए।

खबरें और भी हैं...