205 लोगों को दी गई काेरोनारोधी वैक्सीन:होली में महाराष्ट्र व मध्यप्रदेश से आने वालों पर प्रशासन की नजर

जहानाबाद9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पंचायत प्रतिनिधियों की बारी आने पर उस ओर से भी अब तक अपेक्षित रूचि नहीं दिखलाई जा रही है। - Dainik Bhaskar
पंचायत प्रतिनिधियों की बारी आने पर उस ओर से भी अब तक अपेक्षित रूचि नहीं दिखलाई जा रही है।
  • पंचायत प्रतिनिधि नहीं दिखा रहे रुचि

हालांकि जिले में फिलहाल कोरोना संक्रमण की चेन कमजोर होती दिख रही है लेकिन देश के विभिन्न राज्यों में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए जिला प्रशासन सतर्क हो गया है। स्वास्थ्य विभाग ने होली को देखते हुए पूरे जिले में कोरोना जांच की गति तेज करने का निर्णय लिया है। खासकर रेलवे स्टेशनों और बस अड्डों पर रैंडम जांच के निर्देश दिये गए हैं। सिविल सर्जन ने विभागीय निर्देश के आलोक में कोरोना जांच की गति को तेज करने का निर्णय लिया है। इसके लिए टीम बनाकर पूर्व की भांति रैंडम जांच की संख्या बढ़ाई जाएगी। आवश्यकता के अनुसार आरटीपीसीआर जांच भी किया जाएगा।

इसके मद्देनजर शुक्रवार को सिविल सर्जन के साथ विभागीय अधिकारियों ने वीडियो कांफ्रेंसिंग कर कोरोना के मामलों पर नजर रखने की हिदायत दी है। खासकर महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश जैसे राज्यों से आने वाले यात्रियों की रैंडम जांच के निर्देश दिए गए हैं। साथ ही, वैसे बस स्टैंड जहां दूसरे राज्यों से यात्री आते हैं वहां भी टीम भेजकर जांच कराने के निर्देश दिए गए हैं। कोरोना टीकाकरण अभियान भी जारी रहेगा। विभाग ने ग्रामीण क्षेत्रों में पंचायती राज संस्थाओं के प्रतिनिधियों के साथ समन्वय स्थापित कर टीकाकरण अभियान जारी रखने का निर्देश दिया है।

205 लोगों को दी गई काेरोनारोधी वैक्सीन,पंचायत प्रतिनिधि नहीं दिखा रहे रुचि
जहानाबाद| जिले के आठ टीकाकरण केंद्रों पर शनिवार को 136 बुजुर्गों सहित कुल 205 लोगो को कोविड 19 वैक्सीनेशन किया गया। इसी प्रकार 295 लोगों को दूसरे डोज का वैक्सीनेशन किया गया। पिछले 14 दिनों से बुजुर्गों के लिए संचालित टीकाकरण में निर्धारित लक्ष्य 134000 के विरूद्ध 60 से ऊपर के उम्र के मात्र 2027 का वैक्सीनेशन किया गया। 45 से 59 साल के लोग भी टीकाकरण के प्रति उदासीन हैं। 10 दिनों में मात्र इस उम्र के 578 का वैक्सीनेशन किया गया है। 8 सत्र स्थलों पर संचालित वैक्सीनेशन में प्रतिदिन 800 का टीकाकरण होना चाहिए लेकिन प्रतिदिन 250 से 300 लोगों का ही टीकाकरण किया जा रहा है।

वैक्सीन लेने वाले लोगों की संख्या में लगातार गिरावट
अभी भी वैक्सीन लेने वाले लोगों की संख्या में लगातार गिरावट आ रही है। इस कारण प्रतिदिन निर्धारित लक्ष्य की प्राप्ति नहीं हो पा रही है। सूत्रों की मानें तो कोविड 19 का टीका लेने में अभी भी लोगो में अधिक झिझक है। इसमें कई वैसे कर्मी भी शामिल हैं, जो अनुभवी होने के साथ-साथ सीनियर पद पर पदस्थापित हैं। यहीं कारण है कि हर दिन हर टीकाकरण केंद्र पर निर्धारित 100-100 स्वास्थ्यकर्मियों व आइसीडीएस कर्मियों को टीका लगाने का लक्ष्य पूरा नहीं हो पा रहा है।

अब तक 10248 लोगों को दिया जा चुका है टीका
शनिवार तक 10248 लोगों का वैक्सीनेशन किया गया है। इसके साथ ही 4339 लोगों को अभी तक दूसरे डोज का वैक्सीनेशन किया गया। इसमें सबसे अधिक हेल्थ वर्कर्स 5046 और 2597 फ्रंट लाइन वर्कर्स शामिल हैं। जिले को कोविड टीकाकरण अभियान में हेल्थ वर्कर्स में 95.91, फ्रंट लाइन वर्कर्स में 101.04 एवं पुलिस वर्कर्स में 120.45 फीसदी उपलब्धि हासिल हुई है।

खबरें और भी हैं...