पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पर्व- त्योहार:आज ही मकर संक्रांति मनाना श्रेयस्कर : रंगरामानुजाचार्य

जहानाबाद13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 14 जनवरी को दोपहर दो बजकर 37 मिनट पर सूर्य धनु राशि से करेंगे मकर राशि में प्रवेश

इस बार 14 जनवरी को ही मकर संक्रांति मनाना श्रेयस्कर व फलदायी होगा। उक्त जानकारी देते हुए हुलासगंज संस्थान के प्रसिद्ध आध्यात्मिक संत स्वामी रंगरामानुचार्य जी महाराज ने कहा कि गुरुवार 14 जनवरी की दोपहर 2:37 बजे सूर्य का धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश हो रहा है। प्रवेश से आठ से लेकर सोलह घंटे तक मुख्य पुण्यकाल बताया गया है। फिर भी सूर्यास्त तक सर्वोत्तम पुण्यकाल रहेगा। इस कारण गुरुवार को ही मकर संक्रांति संबंधी स्नान, दान, पूजा करना उत्तम रहेगा। ऐसे में स्नान दान का पर्व मकर संक्रांति इस बार 14 जनवरी को ही मनाना शास्त्र सम्मत होगा। इसी दिन भगवान सूर्य दक्षिणायन से उत्तरायण होने लगेंगे। हालांकि कुछ लोगों ने 15 जनवरी को मकर संक्रांति मनाने की तैयारी की है।

ऐसे लोग विभिन्न पंचागों का हवाला दे रहे हैं। मकर सक्रांति को भी नयी फसल के आगमन से जोड़ा जाता है। इस दिन प्रात: स्नान-ध्यान अौर दान का विशेष महत्व है। इसके बाद घरों व मंदिरों में पूजा-अर्चना कर भगवान को तिल, मुरही व चूड़ा का लाई, तिलकूट, दही अर्पित करते हैं। इसके बाद अन्न, मिठाई, तिलकूट, लाई, गरम कपड़े, तिल, खिचड़ी, द्रव्य अादि का दान करते हैं। वहीं, घरों में चूड़ा-दही, तिलकुट व अन्य खाद्य पदार्थों का सेवन करते हैं. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, मकर संक्रांति पर पवित्र नदी में स्नान-दान व पूजा का विशेष महत्व है। स्वामी जी महाराज ने कहा कि ऐसा करने से व्यक्ति का पुण्य हजार गुना बढ़ जाता है। इस दिन से मलमास खत्म होने के साथ शुभ कार्य की शुरुआत होती है।

भगवान सूर्य की पूजा कर सुख और समृद्धि की करते हैं कामना
इस दिन भगवान सूर्य की पूजा कर लोग सुख और समृद्धि की कामना करते हैं। स्वामी जी ने कहा कि कुछ लोगों के मन में ऐसा विचार आता है कि गुरुवार को खिचड़ी कैसे बनेगी? इसका उत्तर यह है कि यहां दिन की अपेक्षा संक्रांति का महत्व अधिक है। इसलिए खिचड़ी बनाने-खाने में कोई दोष मान्य नहीं है। लोगों की यह भी धारणा है कि हमारा पर्व-त्योहार सूर्योदय पर आधारित है। उन्होंने कहा कि इसलिए यदि 14 जनवरी को संक्रांति मनायी जाती है, तो सुबह से ही स्नान, दान आदि कर लिया जाये। लेकिन हमारे सभी पर्व-त्योहार सूर्योदय पर ही आधारित नहीं हैं। यहां मुख्य है संक्रमणकाल और उसी के आधार पर पुण्यकाल निर्धारित होता है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आप में काम करने की इच्छा शक्ति कम होगी, परंतु फिर भी जरूरी कामकाज आप समय पर पूरे कर लेंगे। किसी मांगलिक कार्य संबंधी व्यवस्था में आप व्यस्त रह सकते हैं। आपकी छवि में निखार आएगा। आप अपने अच...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser