माैत:अरवल में अलग-अलग जगह पर डूबने से चार बच्चों की माैत, मातम

जहानाबाद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिउतिया पर्व पर सोन नदी में स्नान करने गए दो बच्चे डूब गए। जिसमें एक को बचा लिया गया व एक बच्चे कि मौत डूबने से हो गई।प्राप्त जानकारी के अनुसार नगर परिषद वार्ड 21 के दो भाई कुंदन कुमार और प्रिंस कुमार का नहाने के क्रम में पैर फिसलने के कारण सोन नदी में डूब गए। सूचना मिलने पर अगल बगल के लोग किसी तरह बच्चे को सोन नदी से निकाला। निकालने के बाद सदर अस्पताल लाया गया। सदर अस्पताल लाने के बाद कुंदन कुमार को मृत घोषित किया गया। वहीं प्रिंस कुमार का इलाज चल रहा है।

मिली जानकारी के अनुसार बैदराबाद निवासी राजकुमार चौधरी के दोनों पुत्र जिउतिया पर्व के अवसर पर सोन नदी में नहाने गए थे। वही दूसरी घटना सदर थाना क्षेत्र के जनकपुर धाम सोन नदी में स्नान के दौरान पैर फिसलने से एक बच्चे की मौत हो गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार अरवल निवासी विनोद चौधरी का 9 वर्षीय पुत्र छोटू कुमार जनकपुर धाम घाट पर जियुतिया पर्व पर स्नान करने गया था. जो स्नान के दौरान नदी में डूब गया।

कलेर में स्नान करने गए दो बच्चों की गई जान

जिउतिया पर्व के दौरान अलग-अलग जगहों पर दो बच्चों की स्नान करने के दौरान मौत हो गई। बताया जाता है कि कमता गांव के गनौरी राजवंशी की पुत्री उषा कुमारी 14 वर्षीय सोन नदी में अपने परिजनों के साथ स्नान करने गई थी, लेकिन गहरे पानी में चले जाने के कारण वह पानी में डूब गई। जिस कारण उसकी मौत हो गई। वहीं प्रखंड स्थित आगानुर गांव निवासी विक्रम पासवान के नाती विकास पासवान 13 वर्ष अपने परिजनों के साथ स्नान कर रहा था। इसी दौरान पानी में डूब जाने के कारण उसका मौत हो गई। जिउतिया पर्व के दौरान दो बच्चों की मौत हो जाने से प्रखंड क्षेत्र में मातम छा गया है। वहीं परिजनों में हाहाकार मचा हुआ है। ज्ञात हो कि विक्रम कुमार अपने ननिहाल आगानु में रह कर पढ़ाई करता था। लेकिन अपने नानी एवं नाना के कहे अनुसार आगानुर स्थित सूर्य मंदिर के तालाब में स्नान करने के लिए चला गया।

खबरें और भी हैं...