पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पौधरोपण से समस्या का समाधान संभव:विकसित देश पर्यावरण के मामले में विकासशील देशों के साथ कर रहे अन्याय, इसे बचाने की जरूरत

जहानाबाद9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पौधरोपण करते लोग। - Dainik Bhaskar
पौधरोपण करते लोग।
  • आमलोगों को पौधा लगाने की संस्कृति से जुड़ने की जरूरत, पौधरोपण से समस्या का समाधान संभव

प्रखंड के डैडीह गांव में बुधवार को जिले के विभिन्न स्कूल संचालकों व सामाजिक कार्यकर्ताओं ने पौधरोपण अभियान शुरू कर ग्रामीणों को पर्यावरण जागरूकता का संदेश देते हुए उन्हें पौधरोपण को प्रेरित भी किया। वृक्ष मित्र व शर्मा फिश फार्मिंग के संयुक्त तत्वावधान में गांव के तालाब के पास एक खुले मैदान में लोगों ने पौधरोपण किया। कार्यक्रम में लोजपा नेत्री इंदू कश्यप, वृक्ष मित्र के अध्यक्ष डॉ. एसके सुनील, संतोष श्रीवास्तव, भाजपा नेता अजीत कुमार, आरकेपी स्कूल संचालक डाॅ. चंद्रभूषण कुमार उर्फ भोला जी, राकेश कुमार व अक्षय कुमार सहित कई प्रमुख सामाजिक लोग शामिल हुए। पौधरोपण के बाद उपस्थित लोगों ने तालाब में मछली को दाना खिलाया। पर्यावरण संरक्षण अभियान में जुटे लोगों ने कहा कि पौधरोपण पर्यावरण को संरक्षित व सुरक्षित करने का सबसे बड़ा उपाय है।

लोजपा नेत्री ने कहा कि वृक्ष के वगैर मानव जीवन का कोई अस्तित्व ही नहीं है। ऐसे में अगर मानव जीवन को बचाना है तो हर किसी को अधिक से अधिक पौधे लगाने के लिए आगे आना चाहिए। लाेागें ने कहा कि सिर्फ पौधे के रोप देने से बात नहीं बनने वाली है। रोपने के बाद पौधों को संरक्षित रखने के उपाय भी जरूरी है। जब तक पौधे बढ़कर परिपक्व नहीं हो जाएं, उन्हें अपने बच्चाें की तरह संरक्षित करते रहने की जरूरत है। वृक्ष मित्र के अध्यक्ष डॉ. एसके सुनील व आरकेपी स्कूल के संचालक चंद्रभूषण कुमार ने कहा कि ज्यादा से ज्यादा पौधे लगाने के लिए सामाजिक स्तर पर और जागरूकता की जरूरत है।

औद्योगीकरण की दौड़ में पीछे छूट रही प्रकृति

उद्योगीकरण की अंधी दौड़ में मानव जीवन की सांसे खतरे में पड़ती जा रही है। वैश्विक स्तर पर इसके लिए अपेक्षित व एकजुट प्रयास में ईमानदारी का अभाव है। विकसित देश पर्यावरण को लेकर विकासशील देशों के साथ अन्याय कर रहे हैं। ऐसे में खुद आम लोगों को पर्यावरण बचाने के लिए पूरी संजीदगी से आगे बढ़ना होगा। पौधा लगाने की संस्कृति बढ़ाने से समस्या का बड़ा समाधान संभव है। कार्यक्रम में अमरेश कुमार,रौशन कुमार, मिनकन शर्मा, कारू शर्मा कुणाल शर्मा बुक्कस शर्मा, के अलावा स्कूल संचालक संतोष शर्मा, प्रो. कृष्ण मुरारी, साकेत रौशन, मुकेश कुमार, सैलेन्द्र कुमार, अमित कुमार, कन्हैया कुमार, सन्टु कुमार सहित कई लोग शामिल थे।

खबरें और भी हैं...