परेशानी:टनकुप्पा के कैलूडीह में दर्जनों पशुओं को हुआ खुरपका रोग, पशुपालक परेशान

जहानाबाद20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

प्रखंड अंतर्गत गजाधरपुर पंचायत की कैलूडीह गांव में पिछले एक माह से पशुओं को खुरपका रोग हो गया है। संक्रमक रोग होने के कारण बिमारी के लगातार बढ़ते जाने की सूचना है। वर्तमान में गांव के एक दर्जन से अधिक पशुपालकों के 50 से अधिक जानवर रोग से ग्रसित है। सरकारी अस्पताल में सूचना देने के बाद भी पशुओं का इलाज नहीं किए जाने से पशुपालकों में आक्रोश है। इस बात को लेकर पशुपालकों ने जिला पशुपालन पदाधिकारी गया के पास स्थानीय अस्पताल के डाक्टर द्वारा पशुओं का इलाज नहीं करने,ईलाज को लेकर पैसे की मांग करने आदि का आरोप लगाया है। मामले की जानकारी निवर्तमान वार्ड सदस्य चंपा देवी समेत कैलूडीह के दर्जनों ग्रामीणों ने लिखित आवेदन देकर दी है।

बताया कि मुख्य रूप से कैलूडीह गांव के तिलेशर यादव के 9 जानवर, दिलीप यादव के 5 पशु,हरि यादव के 2 जानवर, प्रेमन यादव के 7 जानवर, देवनंदन यादव के 4 पशु, सत्येन्द्र यादव के 3 भैस, वालेशर यादव के 6 भैस, गणेश यादव के 4 गाय, भोला यादव के 4 बैल,मोहन यादव के 4 गाय समेत अन्य पशुपालकों के जानवर खुरपका रोग से ग्रसित है। आवेदकों ने जानकारी दी। बताया कि रोग के उपचार को लेकर स्थानीय बहेरा गांव स्थित पशु अस्पताल में सूचना लगभग एक पखवारे पूर्व दी गई थी। लेकिन अस्पताल में नियुक्त पशु चिकित्सक द्वारा पैसा मांगने पर लोग इलाज कराने से इंकार कर दिए। अस्पताल के डाक्टर पर निजी प्रैक्टिस करने का भी आरोप लगाया गया है। इलाज नहीं होने से बीमार पशुओं की संख्या में लगातार वृध्दि हो रही है। इस बात को लेकर पशुपालकों में आक्रोश है। आवेदक प्रेमण यादव, दिलीप यादव, राहुल कुमार, सिद्धि यादव, मनोज कुमार, सुभाष कुमार, सूरज कुमार समेत दो दर्जन से अधिक पशुपालकों ने जिला पशुपालन पदाधिकारी गया के पास आवेदन देकर बीमार पशुओं का इलाज कराने व पशु चिकित्सक पर कारवाई करने की मांग की है।

खबरें और भी हैं...