निर्देश:काउंसिलिंग के दौरान पकड़ा गया फर्जी अभ्यर्थी पुलिस कस्टडी से हुआ फरार

जहानाबाद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सिविल एसडीओ के संज्ञान में आने के बाद डीईओ ने दिया एफआईआर का निर्देश

स्थानीय एसएस कॉलेज स्थित शिक्षक नियोजन केंद्र पर शनिवार को चल रहे रतनी-फरीदपुर प्रखंड के प्रखंड शिक्षक नियोजन के दौरान एक फर्जी शिक्षक अभ्यर्थी को पकड़ा गया। लेकिन पकड़े जाने के तीन घंटे तक वह पुलिस हिरासत में रहने के बाद मौका पाते ही अधिकारियों की आंखों में धूल झाेंककर वहां से कहां छू मंतर हुआ, संवाद प्रेषण तक किसी को पता नहीं चल सका था। दरअसल बताया जा रहा है कि नियोजन इकाई में शामिल कुछ अधिकारियों द्वारा मामले को रफा दफा करने का प्रयास किया गया, लेकिन फर्जी अभ्यर्थी की जानकारी किसी तरह अनुमंडल पदाधिकारी निखिल विनोद निपन्निकर को हो गई।

उन्होंने इस संदर्भ में सक्रियता दिखाते हुए मामले में तुरंत संज्ञान लिया और जिला शिक्षा पदाधिकारी रौशन आरा को तत्काल कार्रवाई का निर्देश दिया। ततपश्चात डीईओ ने रतनी के प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी को प्राथमिकी दर्ज करने का निर्देश दिया। इधर तीन घंटे तक पुलिस कस्टडी में रहने के बाद भी अभ्यर्थी फरार होने में सफल हो गया, इससे कई सवाल भी उठने लगे हैं। इस संदर्भ में डीईओ ने बताया कि नियोजन इकाई को चकमा देकर अभ्यर्थी भागने में सफल हो गया।

टीईटी का फर्जी प्रमाणपत्र होने का शक हुआ तो किया पुलिस के हवाले
एसएस कॉलेज नियोजन केंद्र पर सिक्स टू आठ सामाजिक विज्ञान विषय मे शिक्षक नियोजन के कॉन्सिलिंग के दौरान मखदुमपुर प्रखंड के घनश्याम बिगहा निवासी सरजू यादव का पुत्र सुमित कुमार के प्रमाण पत्रों की जब जांच की जा रही थी तो टीईटी का प्रमाण पत्र फर्जी होने का शक हुआ।कॉउंसिलिंगमें शामिल अधिकारियों ने जब गहन रूप से छानबीन की तो शक यकीन में बदल गया। इस दौरान फर्जी अभ्यर्थी फरार होने की कोशिश करने लगा लेकिन मौके पर उपस्थित अधिकारियों ने उसे पुलिस को हैंड ओवर कर दिया।पुलिस कस्टडी में तीन घन्टा रहने के बाद भी वह भागने में सफल रहा।इस संदर्भ में एसडीओ ने बताया कि फरार होने की घटना की जांच कराई जाएगी। इधर जिला शिक्षा पदाधिकारी ने इस मामले में फर्जी अभ्यर्थी का सारा प्रमाण पत्र को जब्त करते हुए रतनी फरीदपुर के प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी को नगर थाने में प्राथमिकी दर्ज करने का निर्देश दिया है।

खबरें और भी हैं...