पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बढ़ी परेशानी:चार दिनों के अंदर तीसरी बार कोरोना के नए मरीज मिलने से खलबली, रहें सतर्क

जहानाबाद4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कोरोनारोधी वैक्सीन लेने के लिए लोगों की लगी लम्बी कतार। - Dainik Bhaskar
कोरोनारोधी वैक्सीन लेने के लिए लोगों की लगी लम्बी कतार।
  • चुनाव में नामांकन के दौरान लग रही भीड़ से बढ़ी चिंता, सतर्कता की सलाह दे रहे अधिकारी

कोरोना के तीसरी लहर के संभावनाओं के बीच जिले में कोरोना की सुगबुगाहट अलार्मिंग संदेश दे रहा है। हालांकि स्वास्थ विभाग लगातार सजगता बरत रहा है और जांच से लेकर वैक्सीनेशन का काम भी जारी है। लेकिन पंचायत चुनाव के क्राउडी बन रहे असुरक्षित माहौल में जिस तरह से जिले में हाल के दिनो में कोरोना के इक्के-दुक्के मामले फिर से सामने आने लगे हैं, इससे स्वास्थ्य विभाग से लेकर आम लोगों के माथे पर बल पड़ने लगा है। दरअसल चार दिनो के अंदर जिले के विभिन्न इलाकों में तीसरी बार कोरोना संक्रमित नया मरीज मिलने से हर किसी की चिंता को फिर से बल मिलने लगा है। दरअसल काको प्रखंड के खापुरा में जांच के दौरान फिर से कोरोना संक्रमित एक मरीज मिला है। यह भी गौरतलब हो कि दो दिन पहले उक्त संक्रमित हुआ व्यक्ति घोसी पीएचसी में वैक्सीनेशन की जानकारी लेने के लिए गया था। वहां उसने कुछ लक्षण महसूस करने के बाद करोना जांच भी कराई। सोमवार की देर शाम आई रिपोर्ट में उसे पॉजिटिव पाया गया है।

घबराने की जरूरत नहीं, सतर्कता से बनेगी बात
एपिडेमियोलॉजिस्ट आलोक कुमार ने बताया कि लोगों को फिलहाल बिना घबराए सतर्कता बरतने की जरूरत है। उन्होने बताया कि जिले में सदर अस्पताल के अलावा सभी पीएचसी, टीकाकरण केंद्र, रेलवे स्टेशन के अलावा अन्य भीड़भाड़ वाले जगहों पर जांच कैंप लगाकर कोरोना की जांच की जा रही है। जिले में प्रतिदिन लगभग ढाई हजार लोगों की औसतन करोना जांच की जा रही है। उन्होंने कोरोना के तीसरी लहर से बचाव के लिए सभी लाेगों को सजग रहने की जरूरत जताई। आवश्यक कार्य से ही बाहर निकलने, भीड़-भाड़ से बचने एवं सोशल डिस्टेस का हर हाल में पालन करने की जरूरत जताई है। बाहर निकलने पर मास्क लगाकर ही निकलने की सलाह दी गई है।

आसपास के लोगों की जांच में सभी की रिपोर्ट नेगेटिव
घर के अन्य सदस्यों को उक्त महिला के संपर्क में नहीं आने की सलाह दी गई है। गांव में मेडिकल टीम भेजकर घर एवं आसपास के लोगों की जांच की गई ,जिसमें सभी नेगेटिव पाए गए हैं। यह विभाग व उसके आसपास रहने वाले लोगों के लिए राहत की खबर है। गौरतलब हो कि इसके पूर्व भी छह सितंबर को शहर के धनगावां में मामा-भांजा व मखदुमपुर के मिल्की गांव में एक मरीज कोरोना संक्रमित मिला था। यानि चार दिनो के अंतराल में तीसरी बार काेरोना के नए मरीज मिलने से जिले के लोगों की चिंता को बल मिला है। खासकर नामांकन के दौरान जिस तरह से सरकारी कार्यालय परिसरों में बिना मास्क व सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाई जा रही है।

खबरें और भी हैं...