संक्रमण की रफ्तार फिर हुई तेज:रिटायर्ड प्रोफेसर सहित चार की गई जान अरवल में दो ने इलाज के दौरान तोड़ा दम

जहानाबाद6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 158 नए केस मिले, रिकवरी की संख्या से राहत, 277 मरीज हुए ठीक

कोरोना का जानलेवा कहर लगातार जारी है। बुधवार को भी जहानाबाद में चार व अरवल में दो और लोगों की संक्रमण से मौत का मामला प्रकाश में आया है। जहानाबाद जिले में मृतक में एसएस काॅलेज के जाने माने हिन्दी के प्रख्यात व सेवा निवृत प्राध्यापक रहे देवदत्त राय का कोरोना संक्रमण से मौत हो गई है। हालांकि उनका निधन इलाज के दौरान जिले से बाहर हुआ है। इसके अलावा रतनी प्रखंड के शकूराबाद थाना क्षेत्र के कुंडला निवासी चालीस वर्षीय ज्वाला शर्मा, उक्त प्रखंड के ही दयालचक निवासी कवीन्द्र कुमार तथा मखदुमपुर थाना क्षेत्र के नौगढ़ निवासी सीआरपीएफ के सेवानिवृत्त जवान राम सुशील शर्मा की पत्नी का नाम शामिल हैं। परिजनों के अनुसार तबीयत बिगड़ने पर नवगढ़ की महिला को दो दिन पूर्व सदर अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया था।

आखिरकार बुधवार की दोपहर में उन्होंने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। वही रतनी के कुंडिला के ज्वाला कुमार गत एक सप्ताह से संक्रमण की चपेट में आकर सर्दी खांसी बुखार से पीड़ित होने पर घर पर ही दवा ले रहे थे। बुधवार को उनकी भी अचानक तबीयत बिगड़ गई। इलाज के लिए उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहां पहुंचने के बाद इलाज के दौरान वे भी जिंदगी की जंग हार गए। परिजनों के अनुसार मृतक तेज बुखार से पीड़ित थे, उनका ऑक्सीजन लेवल भी लगातार कमता गया और अंततः इलाज के दौरान जिंदगी की जंग हार गए।

इधर दयालचक गांव निवासी कवीन्द्र कुमार की मौत के बारे में रतनी के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ रंजीत कुमार ने बताया कि पांच दिन पहले उन्हें तबीयत बिगड़ी थी। इलाज कराने के लिए वे अस्पताल आए थे। इलाज से पहले कोरोना के जांच की गई थी जिसमें पॉजिटिव पाए गए थे और उन्हें होम क्वारेंटाइन रहने की सलाह दी गयी थी। तबीयत बिगड़ने पर एम्बुलेंस से पटना जाने के क्रम मे नदौल के समीप रास्ते में ही उनकी मौत हो गई। हालांकि स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोरोना से मौत पर कुछ की अधिकारिक पुष्टि नहीं की है।

सांसाें के टूटने का सिलसिला जारी, कोरोना संक्रमण से बचाव काे लेकर जिलेवासी बरतें विशेष सतर्कता, लापरवाही पड़ेगी भारी

158 नए केस मिले, 277 संक्रमित लोग हुए रिकवर हुलासगंज के मिर्जापुर में एक वर्ष का मासूम भी संक्रमित

जिले में बुधवार को भी 158 नये संक्रमित मिले। जांच में 70 एंटीजेन से पॉजीटिव मिले तो 47 ट्रूनेट से और 41 आरटीपीसीआर से संक्रमित पाए गए। इधर संक्रमण से ठीक होने वालों की संख्या भी राहत दे रही है। बुधवार को 277 लोग रिकवर भी हुए हैं। सीएस के हवाले से दी गई जानकारी के अनुसार जिले में कुल 158 नए केस मिलने के साथ जिले में एक्टिव कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 1694 रह गई है। 1693 लोगों की एनटीजेन जांच की गई है। एंटीजेन से किए गए जांच में नए पॉजिटिव मरीजों में सदर प्रखंड मे 13, काको मे 13, सदर अस्पताल में 13 के अलावे अन्य प्रखंडों के लोग शामिल हैं। पॉजिटिव लोगों में बाहर से आने वाले लोगों की भी अच्छी संख्या रह रही है। इधर कोरोना संक्रमण की गति तेज होने के बाद स्वास्थ्य विभाग द्वारा सजगता बरतने का निर्देश दिया गया है। कोरोना जांच कराकर रिपोर्ट का इंतजार कर रहे लोगों को जांच रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद ही बाहर निकलने की सलाह दी गई है।

अरवल में बढ़ रहा मौत का आंकड़ा, रहें सतर्क
अरवल| सदर अस्पताल में कोरोनावायरस से पीड़ित मरीजों का इलाज के दौरान मरने का सिलसिला जारी है। बुधवार को भी सदर अस्पताल में दो कोरोना पॉजिटिव मरीज का इलाज के दौरान मौत हो गई। दोनों मरीज सदर अस्पताल के बगल में बनाए गए डीसीएचसी वार्ड में भर्ती थे। सदर अस्पताल उपाधीक्षक डॉ रमण आर्यभट्ट ने बताया कि करपी प्रखंड के शेरपुर गांव निवासी 55 वर्षीय नंदलाल प्रसाद की मृत्यु इलाज के दौरान हो गया। वे कोरोनावायरस से संक्रमित थे। गत 25 अप्रैल को उनका कोरोना जांच हुई थी।

जिसमें उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। 26 को आपातकालीन वार्ड में भर्ती हुए थे। जिनकी मौत बुधवार की सुबह में इलाज के दौरान हो गई। वही अरवल निवासी चंद्रमणि देवी 60 वर्षीय की मृत्यु कोरोना संक्रमण के कारण हो गया। चंद्रमणि देवी 26 अप्रैल को सदर अस्पताल में भर्ती हुई थी। उनका ऑक्सीमिटर घट बढ़ रहा था। उनकी मौत कोरोनावायरस के कारण हो गई। इधर कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या भी लगातार बढ़ रही है। सिविल सर्जन डॉ अरबिंद कुमार ने बताया कि बुधवार को 129 नए पॉजिटीव मरीजों कि पहचान हुई हैं।​​​​​​​

खबरें और भी हैं...