पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सतर्कता अब भी जरूरी:1568 की जांच में छह संक्रमित मिले अरवल में भी थमी संक्रमण की रफ्तार

जहानाबाद24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • चौवालिस संक्रमित हुए ठीक, अब एक्टिव मरीजों की संख्या सिर्फ 117 बची

जिले में कोरोना संक्रमण की रफ्तार लगभग खत्म होने के कगार पर पहुंच रहा है। विभिन्न केन्द्रों पर रोजाना हो रही जांच में संक्रमण की रफ्तार लगभग थमती दिख रही है। फिलहाल जो हालात दिख रहे हैं, उससे ऐसा प्रतीत हो रही है कि जिले में कोरोना के गिने चुने दिन शेष रह गए हैं। रविवार को जहां जहानाबाद सदर अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में एक भी मौत का मामला सामने नहीं आया वहीं अरवल सदर अस्पताल में भी किसी की मौत की सूचना नहीं है।

रविवार को विभिन्न केन्द्रों पर 1568 लोगों की हुई कोरोना जांच में मात्र छह नए पॉजिटिव केस मिले। इस प्रकार संक्रमण के ताजा हालात जिले के लिए शुभ संकेत दे रहे हैं। पिछले लगभग पंद्रह दिनों से संक्रमण की रफ्तार लगातार कुंद होती दिख रही है। संक्रमण की रफ्तार लगभग पूरी तरह से ठहरने के संकेत दे रही है।

वहीं संक्रमित मरीजों की मौत का सिलसिला भी लगभग न के बराबर हो गया है। संक्रमण की रफ्तार थमने से जहां प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग राहत की सांस ले रहा है वहीं आम लोग भी इससे सुकून महसूस कर रहे हैं। लेकिन संक्रमण कमने के बावजूद जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग लोगों को संभावित खतरे की पुर्नवापसी से लगातार आगाह कर रहा है।

44 रिकवरी के साथ एक्टिव मरीजों की संख्या घटकर 117
जिले में रविवार को भी कोरोना नये संक्रमितों की संख्या में लगातार गिरावट दर्ज की गई। 1568 लोगों की विभिन्न केन्द्रों पर हुई जांच में सिर्फ छह नए केस मिले। साथ ही रविवार को संक्रमित हुए 44 और लोग रिकवर हो गए जिससे अब जिले में एक्टिव केस की संख्या घटकर 117 पर पहुंच गई। संक्रमित हुए लोगों में शहर के अलावा गावों के लोग भी शामिल हैं।

कोरोना जांच कराकर रिपोर्ट का इंतजार कर रहे लोगों को जांच रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद ही बाहर निकलने की सलाह दी गई है। कोरोना पॉजिटिव हुए अधिकांश मरीजों को होम आइसोलेशन में रहने की सलाह दी है। अधिकारियों का कहना है कि संक्रमण कमा है, पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ है लिहाजा अब भी अगले कुछ दिनो तक लगातार सतर्कता बरतते हुए सुरक्षा नियमों का पूरी तरह से पालन करने की जरूरत है। अगर जरा भी लापरवाही दिखाई गई तो संक्रमण को फिर से रफ्तार पकड़ने में ज्यादा देर नहीं लगेगी।

खबरें और भी हैं...