पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कलशयात्रा:हसनपुरा में यज्ञ आयोजन के लिए निकाली गई कलशयात्रा

जहानाबाद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • लखवार में निकाली गई कलश यात्रा में एक सौ एक महिलाओं ने भाग लिया, जयकारों से गूंजा इलाका

कोरोना संक्रमण थमते ही जिले में भक्ति की बयार बहने लगी है। शुक्रवार को जहां रतनी प्रखंड के हसनपुरा गांव में स्थित देवी मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा को लेकर कलश यात्रा निकाली गई तो लाखापुर में भगवान शिव की प्राण प्रतिष्ठा को लेकर कलश यात्रा का आयोजन किया गया। हसनपुर में श्रद्धालु नर-नारियों ने पीत वस्त्र धारण कर कलश यात्रा निकाली। कलश यात्रा के दौरान मां के जयकारे से इलाका गुंजायमान हो रहा था। मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा को लेकर ग्रामीणों में उत्साह दिखा। इस तीन दिवसीय यज्ञ को लेकर निकलने वाली कलश यात्रा में शामिल होने के लिए शुक्रवार की सुबह से ही ग्रामीण मंदिर परिसर पहुंचने लगे। दिन के आठ बजे गाजे-बाजे ,गाड़ी,घोड़े के साथ कलश यात्रा निकाली गई।

मंदिर परिसर से निकली यह कलश धरमपुर, उचिटा, फौलादपुर होते हुए कुर्था स्थित पंतीत स्थित पुनपुन घाट पहुंची। वहां वैदिक मंत्रोच्चार के बीच कलश में पुनपुन नदी का जल भरी का विधान किया गया। वहां से कलश यात्रा विभिन्न गांवों से होते हुए पुन: वापस मंदिर परिसर पहुंची। जहां जलाभिषेक के साथ पूजाअर्चना का शुभारंभ किया गया। आयोजन समिति के सदस्यों ने बताया कि 21 जून तक चलने वाले इस पूजा के दौरान हुलासगंज मठ से पधारे साधु सन्तो ने पूजाअर्चना कराएंगे एवं 21 जून को हुलासगंज संस्थान के प्रमुख स्वामी रंगरामानुजाचार्य जी के द्वारा देवी प्राणप्रतिष्ठा कराया जाएगा। यज्ञ समाप्ति के उपरांत प्रसाद वितरण एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया जायेगा।

लाखापुर: शिव मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा को ले निकाली कलशयात्रा
लाखापुर गांव स्थित पुराना शिव मंदिर में बाबा भोले नाथ के प्राण प्रतिष्ठा को लेकर कलश यात्रा निकाली गई। महिलाएं हाथ में कलश लेकर जलभरी के लिए धावा गांव के समीप गंगहर नदी पहुची औऱ कलश में जल भरकर पुन: यज्ञ स्थल के लिए रवाना हुई। यज्ञ तीन दिनों तक चलेगा। महिलाएं माथे पर जल लेकर परम्परागत गीत गाते हुए यज्ञ स्थल के लिए निकली। यात्रा में घोड़े की सवारी आयोजन की शोभा बढ़ा रही थी। भव्य कलश यात्रा को देखने के लिए रास्ते में पहले से ही लोग अपने दरवाजे पर खड़े होकर इंतजार कर रहे थे। ग्रामीण बैजू शर्मा ,राजीव कुमार ने बताया कि शुक्रवार को भोले बाबा के प्राण प्रतिष्ठा को लेकर कलश यात्रा निकाली गई कलश यात्रा में एक सौ एक महिलाओं ने भाग लिया।

खबरें और भी हैं...