आरोप:सिद्धांतों को ताक पर रखकर कुर्सी से चिपके रहना चाहते हैं नीतीश कुमार: यशवंत सिन्हा

जहानाबादएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • तीसरे मोर्चे के नेताओं का लगा जमघट, सबों ने सीएम व राज्य सरकार पर जमकर साधा निशाना

जिले में चुनावी माहौल में गर्मी पैदा करने के लिए सत्ता व मुख्य विपक्ष की राजनीति से लगातार दूर चल रहे तीसरे मोर्चे के नेताओं का मंगलवार को यहां जमघट लगा। इस अवसर पर पूर्व केन्द्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा ने कहा कि नीतीश कुमार कुर्सी मोह में पड़कर आम लोगों की पीड़ा को भूल गए हैं। वे किसी भी तरह से हमेशा कुर्सी से चिपककर ही रहना चाहते हैं। कोरोना जैसे महामारी के बीच भी विधानसभा का चुनाव कराने की उनकी छटपटाहट इस बात का प्रमाण हैं।

सिन्हा मंगलवार को यहां पूर्व सांसद डाॅ. अरूण कुमार के समर्थकों व भारतीय सबलोग पार्टी व तीसरे मोर्चे के द्वारा जन संवाद यात्रा को लेकर यहां कृष्णा गार्डेन में आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री सिन्हा ने कहा कि सीएम नीतीश कुमार जानते हैं कि अगर समय पर चुनाव नहीं हुआ तो उन्हें फिर कुर्सी नहीं मिलेगी। लेकिन वे जो भी करें उनके मनसूबे को अब सफल नहीं होने दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि बिहार की स्थिति बदतर है।

पूर्व केंद्रीय मंत्री देवेंद्र प्रसाद यादव ने कहा कि सरकार जनता की आवाज को दबाने का काम कर रही है। जो भी लोग अन्याय के खिलाफ बोल रहे हैं, सरकार उसे दबा रही है। पूर्व केंद्रीय मंत्री नागमणि ने कहा कि सरकार सत्ता के माध्यम से जातिवाद का खेल खेल रही है। आरोप लगाया कि सीएम नीतीश कुमार सिर्फ नालंदा में ही एक विशेष जाति के विकास करने में लगे हुए हैं। पूर्व सांसद डॉ. अरूण कुमार ने कहा कि नीतीश कुमार की सरकार भ्रष्टाचार में डूबी हुई है।

खबरें और भी हैं...