पहल:अब खाता खुलवाने के लिए डाककर्मी घर-घर देंगे दस्तक

जहानाबादएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बेटियों के लिए सुकन्या समृद्धि योजना का खाता खुलवाने डाककर्मी अब घर-घर पहुंचेंगे। दस साल से कम उम्र की बच्चियों के परिजनों से डाककर्मी मिलकर बच्चियों की भविष्य के लिए खाता खुलवाने का आग्रह करेंगे। घर तक पहुंचने वाले डाककर्मी परिजनों को सुकन्या खाता खुलवाने से होने वाले फायदों से भी अवगत कराएंगे। कम से कम मात्र 250 रुपये में खुलने वाले इस खाते से 18 साल बाद बच्ची की पढ़ाई व शादी के वक्त मिलने वाली मोटी रकम से भी अवगत करायेंगे। बेटियों के लिए सुकन्या खाता व बेटों के लिए पीपीएफ को ले घर-घर पहुंचने की जिम्मेवारी डाककर्मियों को सौंपी गई है।

डाक अधिकारी ने बताया कि इसका मुख्य उद्देश्य अर्थ अभाव के कारण बेटियों के लिए समाज में उत्पन्न विषमताओं को खत्म करना है। आर्थिक रुप से कमजोर लोगो में पैसों की हमेशा कमी रहती है। ऐसे में छोटी-छोटी रकम जमा कर बच्ची की शादी के वक्त बड़ी रकम की व्यवस्था हो जाती है। बेटियों के लिए सुकन्या खाता सरकार की महत्वपूर्ण योजनाओं में एक है। जिले के सभी डाकघरों में सुकन्या खाता खुलवाने की व्यवस्था है। किसी भी डाकघर में बच्ची के परिजन सुकन्या खाता बच्ची के नाम खुलवा सकते हैं।

खबरें और भी हैं...