जागरूकता:कोरोना काल में रिश्तेदारों से सोच समझकर मिलें लोग

जहानाबाद2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • लोगों को संक्रमण के खतरों से कर रहा आगाह

संकट में होने या किसी बीमारी होने के बाद कई लोग दूर के रिश्तेदार को उनके मानसिक संबंल देने पहुंचते हैं। आम तौर पर यह उनका कर्तव्य भी है, लेकिन ऐसे समय में हमें विशेष सोचने की आवश्यकता है। कहीं किसी से मिलने जाने के पहले हालात का जायजा लेना चाहिए। जब कोरोना का संक्रमण विस्तारित हो रहा हो। यह न सिर्फ आपके लिए बल्कि आपके जाने वाले स्थान के लोगों के लिए खतरा पैदाकर सकता है। इसी संबंध में डब्ल्यूएचओ ने एक पोस्टर जारी किया है, ताकि कोरोना संक्रमण का विस्तार कम से कम हो और कोविड के व्यवहार के प्रति लोगों में जागरूकता लाई जा सके।

डब्ल्यूएचओ का पोस्टर कहता है कि परिवार के यहां जाना जरूरी है। आपका सहयोग आपके परिवार को मानसिक और शारीरिक सहायता दे सकता है। जिससे वह ठीक भी हो सकते हैं। बावजूद इसके जब कोविड संक्रमण विस्तार ले रहा है। ऐसे में हमें खुद की असेसमेंट करने की भी जरूरत है। पोस्टर कहता है कि अगर आप स्वस्थ महसूस नहीं कर रहे हैं या आप किसी ऐसे व्यक्ति के संपर्क में आए हैं जो कोविड-19 से संक्रमित हुआ है तो आप अपनी यात्रा टाल दें।

खबरें और भी हैं...