आरोप:युवकों की मौत के लिए पुलिस की बर्बरता जिम्मेदार : माले

जहानाबाद3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

घोसी के लखावर निवासी गिरिजेश कुमार एवं सरता के गोविंद मांझी की पुलिस पिटाई से मौत की न्यायिक जांच कराने, घोसी एवं परसबिगहा थाना प्रभारी पर हत्या का मुकदमा दर्ज करने, बर्खास्तगी, न्याय मांग रहे लोगों पर लाठी गोली चलाने वालों वाले पदाधिकारियों पर कार्रवाई करने, पुलिस कस्टडी में हो रहे लगातार मौत एवं बर्बर पुलिसिया दमन पर रोक लगाने,मृतक के परिजनों को 25-25 लाख रुपया एवं आश्रितों को सरकारी नौकरी देने आदि सवालों को लेकर भाकपा माले ने शनिवार को शहर में एक विरोध मार्च निकालकर अरवल मोड़ पर सभा का आयोजन कर अपना तीव्र आक्रोश का प्रदर्शन किया।

आंदोलन में शामिल लोग लीपापोती बंद करो- घोसी, परसविगहा थाना प्रभारी पर कार्रवाई करो, पुलिस राज नहीं चलेगा आदि नारों के साथ रोषपूर्ण नारे लगा रहे थे। विरोध मार्च का नेतृत्व किसान महासभा के राज्य सचिव रामाधार सिंह, घोसी विधायक रामबली सिंह यादव,जिला सचिव श्रीनिवास शर्मा, कुंती देवी, घोसी प्रखंड सचिव अरुण बिन्द, निर्माण मजदूर यूनियन के जिलाध्यक्ष इंद्रेश पासवान, रतनी प्रखंड सचिव करीमन दास, मनरेगा मजदूर सभा के जिला संयोजक ललन किशोर आजाद, दिनेश दास, वितन मांझी, प्रदीप कुमार, प्रभात कुमार, दिलीप बिंद, उद्रेश पासवान, विनोद कुमार भारती, खेत मजदूर सभा के जिला अध्यक्ष सत्येंद्र रविदास, इनौस नेता मुकेश आदि नेतागण कर रहे थे।

खबरें और भी हैं...