पहल:पोस्टर एवं पंपलेट पर मुद्रक व प्रकाशक का नाम जरूरी

जहानाबाद3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पंचायत चुनाव को निष्पक्ष व भयमुक्त संपन्न कराने को लेकर निर्वाचन आयोग पहले से ही तैयारी में जुट गया है। निर्वाचन आयोग ने पंचायत चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों के प्रचार-प्रसार के लिए गाइडलाइन जारी किया है। प्रचार-प्रसार के लिए छपवाए जाने वाले पोस्टर एवं पंपलेट पर मुद्रक व प्रकाशक दोनों का नाम मस्ट होगा। बिना मुद्रक तथा प्रकाशक का नाम-पता अंकित किए बिना पोस्टर व पंपलेट के प्रकाशन पर प्रशासन द्वारा कार्रवाई की जाएगी।

निर्वाचन आयोग द्वारा जारी गाइडलाइन के अनुसार, पोस्टर व पंपलेट छपवाने वाले व्यक्तियों को अपने हस्ताक्षर के साथ-साथ दो अन्य व्यक्तियों द्वारा सत्यापित लिखित घोषणा पत्र की दोहरी प्रति मुद्रक व प्रकाशक को देनी होगी। प्रकाशक की लिखित अनुमति के बिना चुनाव प्रचार से संबंधित पोस्टर व पंपलेट छापना दंडनीय अपराध होगा। निर्वाचन आयोग द्वारा जारी गाइडलाइन का उल्लंघन करने वाले व्यक्तियों के विरुद्ध लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 की धारा 127 एक के तहत कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...