पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्रथम चरण का नामांकन:पेड़ों की छांव तले चाैपाल में हाेने लगी जीत और हार की चर्चा, वोटर चुप; प्रत्याशी बेचैन

अरवल6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • खासकर मुखिया बनने और बनाने का दौर शुरू हो गया

पंचायत चुनाव का प्रथम चरण का नामांकन समाप्त होने एवं दूसरे चरण का भी नामांकन आखिरी दौर में होने के बाद गांव की चौपाल पर चुनावी चर्चा के इर्द-गिर्द घूम रही है। चौक चौराहे पर लोग चुनावी चौपाल सजा रहे हैं और हार जीत के कयास लगाए जा रहे हैं।जीत हार को लेकर हर दिन समीकरण तय किये जाने लगे हैं। चूंकि पंचायत चुनाव ग्रामीण क्षेत्रों में बेहद रोमांचक तरीके से होता है। इस चुनाव में स्थानीय लोग अन्य चुनाव की अपेक्षा अधिक रुचि लेते हैं। वहीं, ग्रामीणों के बीच गुटबाजी व अन्य प्रकार के विवाद पंचायत चुनाव में बढ़ जाते हैं।

खासकर मुखिया बनने और बनाने का दौर शुरू हो गया है। कौन चुनाव लड़ रहा है, किसे कौन लड़ा रहा है। किस दावेदार के साथ इतने लोग है।दूसरे के साथ उसका परिवार भी है या नहीं है। इस प्रकार की बातें गांव में शुरू हो चुकी है। पुराना मुखिया मैदान में उतर रहा है तो उसकी अच्छाई व बुराई को लेकर देर शाम तक चर्चा के साथ ही एक दूसरे को गुस्सा और सुबह फिर उसी की चर्चा चुनाव के दौरान आम बात हो गयी है। गौरतलब हो कि जिले के सभी 5 प्रखंडों के 65 पंचायतों में अलग-अलग चरण में मतदान कराया जाना है। पहले चरण में सोनभद्र सूर्यपुर बंसी प्रखंड में चुनाव को लेकर नामांकन की प्रक्रिया समाप्त हो चुकी है वही सदर प्रखंड में दूसरे चरण में नामांकन की प्रक्रिया अंतिम चरण में पहुंच गई है। नामांकन के बाद सियासी पारा सातवें आसमान पर है।

खबरें और भी हैं...